कोचिंग सेंटर में फायर सेफ्टी जरूरी

हिमाचल प्रदेश शिक्षा विभाग जांचेगा सुरक्षा व्यवस्था

 शिमला —हिमाचल प्रदेश में सूरत के कोचिंग सेंटर की तरह कोई हादसा न हो, इसके लिए शिक्षा विभाग अब सख्त हो गया है। शिक्षा विभाग ने उपनिदेशकों व स्थानीय एसडीएम को निर्देश जारी कर कोचिंग सेंटर में सुरक्षा को लेकर किए गए इंतजामों की रिपोर्ट मांगी है। दरअसल सूरत में कोचिंग सेंटर में आग लगने से दर्जनों छात्रों की हुई मौत के बाद विभाग हरकत में आया है। जानकारी के अनुसार शिमला, हमीरपुर, कांगड़ा तीन ऐसे जिले हैं, जहां से क्षेत्र के वरिष्ठ लोगों ने बड़े व छोटे कोचिंग सेंटर में सुरक्षा के इंतजाम न करने पर शिकायत दर्ज करवाई है। विभागीय जानकारी के अनुसार शिक्षा निदेशक ने जिलों के सभी उपनिदेशकों से कहा है कि वह सभी कोचिंग सेंटर्ज में जाकर दौरा करें और फायर सेफ्टी को लेकर किए इंतजामों का जायजा लें। शिक्षा विभाग ने उपनिदेशकों को उन सेंटर में जाकर भी आग से बचने के लिए क्या- क्या इंतजाम किए गए है, इस पर अलग से पैनी नजर रखने को कहा है। प्रदेश के बड़े-बड़े कोचिंग सेंटर में तो फायर सेफ्टी को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए हैं, लेकिन उनमें से ऐसे भी सेंटर हैं, जिन्होंने ऐसे इंतजाम नहीं किए हैं। विभाग के निदेशक ने निर्देशों में साफ कहा है कि शिक्षा विभाग नियमों के तहत लापरवाही करने वाले कोचिंग सेंटर्ज पर कड़ी कार्रवाई अमल में लाएंगे।

 

You might also like