खणी पंचायत के लिए सड़क सिर्फ सपना

भरमौर—उपमंडल भरमौर की ग्राम पंचायत खणी के गांव बाहलो के लोग आज भी भाग्य रेखा से वंचित हैं। आजादी के 70 वर्ष बीत जाने के बाद भी सड़क सुविधा से न जुड़ पाने से उन्हें आज भी पीठ पर सामान लादकर घरों तक पहुंचाना पड़ रहा है। अब ग्रामीणों ने गांव को सड़क से जोड़ने को लेकर आवाज बुलंद कर दी है। ग्रामीण ने गरजेश शर्मा, राजकुमार, सुरेश कुमार, नीना देवी, राधा देवी, उर्मिला देवी, तिमरो देवी व भूपेंद्र सिंह ने बताया कि इससे पूर्व भी कई बार मांग प्रमुखता से उठाई गई है। चुनाव प्रचार के दौरान यहां पहुंचे राजनेताओं ने हर बाद उनसे चुनाव के बाद सड़क सुविधा से जोड़ने का वादा किया। लेकिन वह मात्र एक वादे तक ही सिमटा रहा। किसी भी सरकार ने ग्रामीणों का दर्द नहीं जाना और वे केवल उपेक्षा के शिकार ही हुए हैं। हालात यह हैं कि गांव तक एक घोड़ा सड़क तक भी नहीं है। आपातकालीन स्थिति में मरीज को पीठ पर उठा कर अस्पताल तक पहुंचाना एक चुनौती बन  जाता है। कई बार तो मरीज बीच रास्ते में ही समय पर उपचार न मिलने के कारण दम तोड़ देते हैं। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में सेब की अच्छी पैदावार तो होती है लेकिन सड़क न होने के कारण उन्हें उसका लाभ नहीं मिल पाता। उन्हें सेब को कई किलोमीटर तक पीठ पर लादकर बाजारों तक पहुंचाना पड़ता है। उन्होंने मांग की है कि जल्द से जल्द गांव को सड़क सुविधा से जोड़ा जाए ताकि लोगों को दिक्कतों आ सामना न करना पड़े।

You might also like