खशोगी हत्या को न भुनाएं

सऊदी क्राउन प्रिंस ने पत्रकार हत्या मामले में किया आगाह

रियाद -सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने राजनीतिक लाभ के लिए पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले को भुनाए जाने के खिलाफ आगाह किया है। बिन सलमान की इस चेतावनी को तुर्की पर परोक्ष हमले के तौर पर देखा जा रहा है। पिछले साल अक्तूबर में तुर्की के इस्तांबुल में स्थित सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में खशोगी की निर्ममता से हत्या कर दी गई थी। इसके बाद मोहम्मद बिन सलमान की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठा धूमिल हो गई थी और तुर्की और सऊदी अरब के रिश्तों में तनाव आ गया था। तुर्की के अधिकारियों ने सबसे पहले हत्या की खबर दी और वे सऊदी अरब पर खशोगी के शव के बारे में जानकारी देने के लिए लगातार दबाव बना रहे हैं। अब तक खशोगी के शव का पता नहीं चल सका है। एक साक्षात्कार में मोहम्मद बिन सलमान ने कहा कि जमाल खशोगी की हत्या बहुत ही पीड़ादायी अपराध है। इस साक्षात्कार में तुर्की का नाम लिए बिना क्राउन प्रिंस ने कहा कि राजनीतिक लाभ के लिए इसे भुनाने वाला चाहे कोई भी हो, उसे ऐसा नहीं करना चाहिए और उसे सबूत (सऊदी अरब की) अदालत में पेश करने चाहिए, ताकि न्याय में मदद मिल सके। मोहम्मद बिन सलमान ने यह भी कहा कि वह तुर्की सहित सभी इस्लामी देशों के साथ मजबूत रिश्ते चाहते हैं। खबरों के अनुसार, सीआईए ने कहा था कि खशोगी की हत्या मोहम्मद बिन सलमान के आदेश पर हुई। सऊदी अधिकारियों ने इस आरोप को सिरे से नकार दिया। अमरीका निवासी खशोगी मोहम्मद बिन सलमान के धुर आलोचक थे।

 

You might also like