गंदगी फैलाई तो लगेगा जुर्माना

बिलासपुर —बार-बार नोटिस देने के बावजूद गंदगी फैलाने से बाज नहीं आने वाले शहरवासियों को अब नगर परिषद बिलासपुर जुर्माना ठोंकेगी। इसके तहत नप से 500 से पांच हजार रुपए के जुर्माने का प्रावधान रखा है। सड़क पर कूड़ा फेंकने, सड़क पर मलबा फेंकने व नालियों में गंदगी बहाने समेत विभिन्न श्रेणियों में म्युनिसिपल एक्ट के तहत जुर्माना डाला जाएगा। यह राशि प्रतिदिन के हिसाब से वसूली जाएगी। नगर परिषद की ईओ उर्वशी वालिया ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि तमाम जागरूकता अभियान चलाने व नोटिस देने के बावजूद कुछ लोग शहर को गंदा करने से बाज नहीं आ रहे हैं। जिसका जहां मन होता है, वहीं कूड़ा फेंक देता है। ऐसे में शहर को गंदा करने व गंदगी करने वालों को सबक सिखाने के लिए जुर्माने की श्रेणियां निर्धारित की गई हैं। इसके तहत लोगों द्वारा घर के बाहर कूड़े के ढेर लगाने पर भी जुर्माना लगेगा। ईओ उर्वशी ने बताया कि कूड़ा निस्तारण को लेकर इन दिनों महिला ब्रिगेड ने एक विशेष अभियान छेड़ा है। अभियान के तहत महिलाओं की टीमें रोजाना वार्डों में जाकर लोगों को गीला व सूखा कचरा अलग-अलग देने पर जागरूक कर रही हैं। नगर परिषद के सफाई कर्मचारियों को कूड़ा देने की बजाय खुले में व नदी-नालों में फेंक रहे हैं। उन्होंने बताया कि नप ने हर मोहल्ले से चार से पांच महिलाओं का एक ग्रुप तैयार किया गया है, जो कूडा़ लाने गए सफाई कर्मचारियों के साथ हर घर में दस्तक दे रहा है और लोगों को उनके घरों का गीला व सूखा कूड़ा अलग-अलग कर रोजाना नप को देने का आग्राह कर रहा है। डोर-टू-डोर कूड़ा लेने की योजना के तहत नप ने 50 रुपए महीना शुल्क निर्धारित किया है। इस अभियान का प्रमुख उद्देश्य लोगों को डोर-टू-डोर अभियान से जोड़ना है। वहीं, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद, बिलासपुर उर्वशी वालिया ने कहा कि शहर को गंदा करने वालों को बिलकुल बख्शा नहीं जाएगा। एनजीटी के आदेशों के तहत खुले में कूड़ा व गंदगी फैलाने वालों से अब जुर्माना वसूल किया जाएगा। अब तक गंदगी फैलाने वाले 40 लोगों को नोटिस भी जारी किए जा चुके हैं।

You might also like