गगरेट में दिन के समय मालवाहक बैन

गगरेट —स्थानीय कस्बे को यातायात जाम से मुक्ति दिलाने के लिए रोड सेफ्टी क्लब की बैठक में हुए निर्णय को अमलीजामा पहनाने के लिए गगरेट पुलिस ने कमर कस ली है। मालवाहक वाहनों की कस्बे में दिन के समय एंट्री को रोकने के लिए अब मालवाहक वाहन दिन के समय बाइपास मार्गों से भेजने का पुलिस ने निर्णय लिया है। इसके लिए बाकायदा पुलिस ने गुरुवार को दि विशाल हिमाचल गुड्स ट्रांसपोर्ट सोसायटी को हुक्मनामा जारी कर दिन के समय मालवाहकों को बाइपास मार्ग से ले जाने की ताकीद की है। यह व्यवस्था क्रशरों से निर्माण सामग्री लाने वाले टिप्परों पर भी लागू रहेगी। स्थानीय कस्बे में वाहनों के बढ़ते दवाब के चलते अब यातायात जाम की समस्या आम हो गई है। रही सही कसर कस्बे के मुख्य मार्गों पर राष्ट्रीयकृत बैंकों की शाखाएं पूरी कर रही हैं। अधिकांश बैंक शाखाओं के पास पार्किंग व्यवस्था न होने के कारण यहां आने वाले उपभोक्ता मुख्य सड़क पर ही वाहन पार्क करने को मजबूर हैं। ऐसे में जब बड़े-बड़े मालवाहक व टिप्पर कस्बे की सड़कों पर उतरते हैं तो न चाहते हुए भी जाम की समस्या स्वयं पैदा हो जाती है। जला देने वाली गर्मी के बीच लगने वाले ये जाम आम आदमी की मुसीबत को और बढ़ा रहे हैं। ऐसे में रोड से टी क्लब की बैठक में भी जाम से निजात दिलाने के लिए की गई माथापच्ची के बाद यह निर्णय लिया गया था कि दिन के समय अगर मालवाहक व टिप्पर वैकल्पिक मार्गों का प्रयोग करें तो इस समस्या से काफी हद तक पार पाया जा सकता है। मुबारकपुर की ओर से आने वाले मालवाहक जो ऊना की तरफ जा रहे हैं वे दिन के समय टेढ़ा मार्ग बाइपास का प्रयोग कर सकते हैं और होशियारपुर से ऊना की तरफ जाने वाले मालवाहक वाया पांवड़ा होकर निकल सकते हैं। इससे कस्बे की सड़कों से यातायात दवाब भी कम हो सकेगा। एसएचओ सुशील कुमार ने बताया कि कस्बे से यातायात जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए दिन के समय मालवाहक वाहनों की आवाजाही वैकल्पिक मार्गों से करने की व्यवस्था बनाई गई है, ताकि आम जनता को जाम से राहत मिल सके।

You might also like