गगरेट में नाबालिग भतीजी से दुराचार

नशेड़ी सगे चाचा ने ही तार-तार किए खून के रिश्ते, आरोपी फरार

दौलतपुर चौक —गगरेट विस क्षेत्र के अंतर्गत एक गांव मे दुराचार का मामला प्रकाश में आया है।  पुलिस के महिला सैल ने पोक्सो एक्ट सेक्शन (04) धारा 376, 323 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। जानकारी के अनुसार एक स्कूल मे पढ़ने वाली छात्रा से उसके सगे चाचा द्वारा ही पावन रिश्ते को तार-तार करके दुराचार करने का मामला है। उक्त चाचा काफी लंबे अरसे से उक्त नाबालिग को शराब के नशे मे धुत्त होकर अपनी हवस का शिकार बना रहा था। पीडि़ता जब स्कूल में आकर गुमसुम रहने लगी तो उसकी अध्यापिका ने उससे पूछा पर उक्त पीडि़ता पहले न नुकर करने लगी तो अध्यापिका ने उसकी कॉउंसलिंग की, जिस पर पीडि़ता ने रोंगटे खड़ी कर देने वाली आपबीती घटना अपनी शिक्षिका को बताई। शिक्षिका उक्त मामला प्रधानाचार्य सहित स्कूल प्रशासन के समक्ष लाई। प्रधानाचार्य ने उक्त मामला ग्राम पंचायत, लाडली एनजीओ एवं एक मौका-एक उम्मीद संस्था के समक्ष उठाया,  जिस पर लाडली रक्षक एनजीओ एवं एक मौका एक उम्मीद संस्था ने पीडि़ता से स्कूल मे आकर संपर्क किया और उसकी दुखभरी कहानी सुनी। जिसमें पता चला कि आरोपी चाचा पिछले कई वर्षों से मौका पाकर उसे हवस का शिकार बना रहा था और इस बात किसी को भी न बताने के लिए उसे डराता धमकाता था। जिस पर एनजीओ और एक मौका एक उम्मीद ने उक्त मामला पुलिस के महिला सैल के समक्ष लाया और महिला सेल ने पीडि़ता के बयान कलमबद्ध करके पोक्सो एक्ट के तहत कारवाई करते मामला दर्ज किया।  आरोपी अभी तक भी मौका से फरार है। मिली जानकारी के अनुसार अपनी सगी नाबालिग भतीजी से कुकृत्य को अंजाम देने वाला आरोपी चाचा (35) अविवाहित है और शराब का आदी है। यह पहले भी 107/51 के मामले मे हवालात की हवा खा चुका है।  लाडली रक्षक संस्था की संयोजन रेखा जम्वाल ने कहा कि  मामले को कुछ लोग दबाने का प्रयास कर रहे थे, जो कि निंदनीय है। महिलाओं को अपने प्रति हो रहे अत्याचार के लिए बिना डरे आवाज उठानी चाहिए। संस्था भविष्य में भी महिलाओं से जुड़े मामलों को उठाती रहेगी।

You might also like