गलत तरीके से दाखिला लिया तो कार्रवाई

हिसार –गलत तरीके से अपने बच्चों का निजी स्कूलों में मुफ्त दाखिला कराने वाले अभिभावकों की खैर नहीं। मौलिक शिक्षा निदेशालय ने सभी जिला उपायुक्तों को निर्देश जारी करते हुए तहसील कार्यालय द्वारा जारी किए गए आय प्रमाण पत्रों की जांच के आदेश दिए हैं। जांच में किसी भी अभिभावक द्वारा गलत तरीके से आय प्रमाण पत्र बनवाकर अपने बच्चे का दाखिला नियम 134ए के तहत कराया पाया जाता है, तो फिर उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी। दरअसल स्वास्थ्य शिक्षा सहयोग संगठन के प्रदेश अध्यक्ष बृजपाल परमार ने गत दो जुलाई 2018 को एक आरटीआई के जरिए मौलिक शिक्षा निदेशालय से जानकारी मांगी थी कि हरियाणा के मुख्य सचिव द्वारा 30 मार्च 2017 को जारी किए गए आदेशों के अनुसार अब तक कितने जिलों में इनकम यानी आय प्रमाण पत्रों की जांच कराई गई है। इसके बाद मौलिक शिक्षा निदेशालय ने पांच अप्रैल 2017 को ही सभी जिला शिक्षा अधिकारियों व जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को नियम 134ए के तहत दाखिला हुए बच्चों के अभिभावकों के आय प्रमाण पत्रों की जांच के आदेश दिए थे। इन दोनों ही आदेशों के बावजूद संबंधित अधिकारियों ने कोई कदम नहीं उठाए। इस मामले में राज्य सूचना आयोग ने भी 18 जनवरी 2019 को मौलिक शिक्षा निदेशालय को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया। सूचना आयोग ने मौलिक शिक्षा निदेशालय को अपनी रिपोर्ट के साथ 21 अगस्त को तलब भी किया है। बृजपाल परमार ने बताया कि मौलिक शिक्षा निदेशालय ने सभी जिला उपायुक्तों को आय प्रमाण पत्रों की जांच की जि मेवारी सौंपी है और इसकी जांच रिपोर्ट भी निदेशालय द्वारा जल्द से जल्द तलब की गई है। श्री परमार ने बताया कि शिक्षा सत्र 2019-20 के तहत अब तक प्रदेशभर के सभी जिलों में करीबन डेढ़ लाख बच्चों का नियम 134ए के तहत निजी स्कूलों में दाखिला हो चुका है। जबकि दाखिले का दूसरा चरण अभी बाकी है। इन सभी बच्चों के अभिभावकों द्वारा दाखिला के समय तहसील कार्यालय से लगाए गए आय प्रमाण पत्र की जांच जिला प्रशासन द्वारा कराई जाएगी।

You might also like