गुरुपर्व समागम में बुलाए जाएंगे प्रवासी पंजाबी

पंजाब के प्रवासी भारतीय मामले मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने दी जानकारी

चंडीगढ़ – श्री गुरु नानक देव जी के 550वें गुरुपर्व के मौके पर पंजाब सरकार द्वारा नवंबर महीने में करवाए जाने वाले समागमों में शामिल होने के लिए 550 प्रवासी पंजाबियों को आमंत्रण पत्र दिया जाएगा। यह ऐलान नवनिर्वाचित प्रवासी भारतीय मामलों संबंधी मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने नए विभाग का पद संभालने के मौके पर कही। खेल और युवा मामले मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने नए मिले विभाग प्रवासी भारतीय मामलों का पद संभालते हुए पंजाब सिविल सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में नए विभाग के उच्च अधिकारियों के साथ पहली मीटिंग भी की। राणा सोढी ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के नेतृत्व अधीन पंजाब सरकार द्वारा पिछले साल से ही 550वें गुरुपर्व से संबंधित समागम बनाए गए हैं, जो साल भर चलने के उपरांत नवंबर महीने में समाप्त होंगे। उन्होंने कहा कि इस ऐतिहासिक पलों का गवाह बनने के लिए विदेशों में बैठे पंजाबियों को जोड़ने के लिए फैसला किया गया है कि 550 एनआरआई को न्योता दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन 550 प्रवासी पंजाबियों के पंजाब पहुंचने के उपरांत उनका यहां रहने और यातायात का प्रबंध पंजाब सरकार द्वारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन प्रवासी पंजाबियों को सुल्तानपुर लोधीए बटाला और डेरा बाबा नानक के दर्शन करवाए जाएंगे। राणा सोढी ने अधिकारियों को कहा कि प्रवासी भारतीयों से संबंधित जायदाद और वैवाहिक झगड़े के मामलों को पहल के आधार पर हल करने के लिए एक उपयुक्त कार्यशैली बनाई जाए, जिसमें तुरंत निपटारे हों। उन्होंने कहा कि किसी भी एनआरआई को न्याय मिलने में देरी न हो। उन्होंने कहा कि जायदाद से संबंधित मामले राजस्व विभाग के साथ जुड़े होते हैं, जिसके लिए वह राजस्व विभाग के साथ संबंध कायम करके उनके अधिकारी जमीनी स्तर पर नोडल अफसर के तौर पर तैनात किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि तहसीलदार स्तर के यह अधिकारी सिर्फ एनआरआई के साथ संबंधित जायदाद के मामलों का निपटारा करेंगे, इस संबंधी वह जल्द ही राजस्व विभाग के साथ मिलकर नक्शा बनाएंगे। इस मीटिंग में विभाग के विशेष सचिव एमपी अरोड़ा, पंजाब पुलिस के एनआरआई विंग के एडीजीपी ईश्वर सिंह, पंजाब स्टेट कमिश्नर फॉर एनआरआई के सचिव अमनिंदर कौर बराड़ और विभाग की डिप्टी सचिव रंजू बाला भी उपस्थित थे।

You might also like