गुशैणी जनमंच… मौके पर निपटाई समस्याएं

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने की कार्यक्रम की अध्यक्षता, अधिकारियों की भी ली क्लास

बंजार—बंजार विधानसभा क्षेत्र के गुशैणी में आयोजित जनमंच में कुल 83 शिकायतें आईं, जिनमें से  61 का मौके पर निवारण किया गया और शेष शिकायतों को संबंधित विभागों को तुरंत समाधान के लिए अग्रेषित किया गया। जनमंच की अध्यक्षता स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, आयुर्वेद व विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री विपिन सिंह परमार ने की। जनमंच में बंजार क्षेत्र की आठ पंचायतों के लोगों की शिकायतें सुनीं गई।  इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जनमंच प्रदेश सरकार का महत्त्वाकांक्षी कार्यक्रम है, जिसके माध्यम से सरकार का लोगों से सीधा संवाद होता है और मौके पर उनकी समस्याएं सुनना और उनका समाधान करना प्रशासन की जिम्मेदारी को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि जनमंच लोगों के लिए बनाया गया कार्यक्रम है, जिसमें विभाग पूरी तैयारी के साथ आते हैं और शिकायतों का निपटारा करते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश में यह एक अनूठी शुरुआत की है, जिसके सार्थक परिणाम देखने को मिल रहे हैं। जनमंच के दौरान स्वास्थ्य तथा आयुर्वेद विभागों ने स्वास्थ्य शिविर भी लगाए गए, जिनमें लगभग 300 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। डाट के 76 सैंपल भी लिए गए। 20 लोगों के आयुष्मान कार्ड व 11 लोगों को हिमकेयर कार्ड मौके पर प्रदान किए गए। उद्यान विभाग ने 80 कार्ड जारी किए, जबकि कृषि विभाग ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत 19 किसानों के दस्तावेज प्राप्त किए। राजस्व विभाग ने मौके पर विभिन्न प्रकार के 30 प्रमाण पत्र बनाए और 26 इंतकाल किए।

बंजार-गुशैणी में जल्द भरे जाएंगे चिकित्सकों के पद

क्षेत्र के लोगों की मांग पर विपिन सिंह परमार ने कहा कि प्रदेश में लोक सेवा आयोग के माध्यम से 200 चिकित्सकों के पद भरे जा रहे हैं। इनमें से बंजार विधानसभा क्षेत्र में रिक्त पदों को जल्द भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछली सरकार ने चुनावों के दौरान आनन-फानन में 108 स्वास्थ्य केंद्रों को खोलने की घोषणा कर दी। इसके लिए न बजट का प्रावधान किया और न ही कोई पद स्वीकृत किए गए। उन्होंने कहा कि राज्य में आज सरकारी क्षेत्र में छह मेडिकल कालेज हैं और एक निजी क्षेत्र में हैं। इन कालेजों में वर्तमान में लगभग 900 सीटें हैं और आने वाले समय में प्रदेश में डाक्टरों की कोई कमी नहीं रहेगी। इसी प्रकार आयुर्वेद में भी चिकित्सकों के पद भरे गए हैंं।

जिम्मेदारी से नहीं भाग सकते अधिकारी

मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि अधिकारियों का दायित्व है कि वे सरकार की नीतियों व योजनाओं का लाभ अविलंब लोगों को प्रदान करना सुनिश्चित बनाए। वे अपनी जिम्मेदारी से नहीं भाग सकते और जनता अब जागरुक है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों की पहचान उनके काम से है न कि इस बात से कि कितना समय किसी स्टेशन पर बिताया है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को जनमंच के अलावा हर रोज कार्यालयों में लोगों की छोटी-छोटी समस्याओं का अपने स्तर पर निपटारा करना चाहिए। गांव के लोगों को कार्यालयों के चक्कर न लगाने पडे, इस बात का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हालांकि कुछ कामों में अड़चने स्वाभाविक हैं, लेकिन समाधान भी है।

स्वास्थ्य मंत्री ने बंजार अस्पताल का लिया जायजा

बंजार। रविवार को स्वास्थ्य एवं महिला एवं बाल विकास मंत्री विपिन सिंह परमार ने बंजार अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। इस मौके पर उन्होंने बंजार अस्पताल में बनने वाले भव्य भवन का औचक निरीक्षण किया तथा चल रहे कार्य का भी जायजा लिया। इस अवसर पर उन्होंने संबंधित विभाग को यह आदेश जारी किए कि तुरंत इस भवन को सिरे तक पहुंचाएं ताकि बंजार अस्पताल में मरीजों को उचित सुविधा मिल सके। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री के साथ स्थानीय विधायक सुरेंद्र शौरी  ने बंजार विधानसभा में की दिक्कतों से स्वास्थ्य मंत्री को अवगत करवाया।

हिमकेयर योजना में पंजीकरण करवाएं लोग

स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से कहा कि राज्य सरकार की हिमकेयर एक बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है, जिसके तहत सालाना एक परिवार को पांच लाख रुपए तक का निःशुल्क उपचार की सुविधा है। उन्होंने कहा कि बीपीएल परिवारों, मनरेगा में 50 दिनों तक काम करने वाले लोगों के लिए योजना के तहत कोई शुल्क नहीं देना पड़ता। आशा कार्यकर्ताओं, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, 58 वर्ष से अधिक की आयु वाले व्यक्तियों, मिड-डे-मील कर्मियों तथा 28 प्रतिशत से अधिक अपंगता वाले व्यक्तियों के लिए एक दिन में केवल एक रुपया देकर योजना का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

You might also like