ग्राउंड रिपोर्ट के आधार पर मिलेगा टिकट

उपचुनाव के लिए सोशल मीडिया के दावेदारों की हवा निकाल गए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर

धर्मशाला    —लोकसभा चुनावों के तुरंत बाद उपचुनाव की तैयारी में भाजपा व सरकार प्रत्याशी चयन के लिए ग्राउंड रिपोर्ट को आधार बनाएगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने धर्मशाला प्रवास के दौरान कार्यकर्ताओं को बातों ही बातों में स्पष्ट कर दिया कि सोशल मीडिया पर छपास और दिखास वाले लोगों को टिकट नहीं मिलेगा, बल्कि धरातल से मिलने वाली फीडबैक को आधार बनाया जाएगा। यानी भाजपा उपचुनाव में किसी मास लीडर पर ही दांव खेलेगी, जिसके नाम की गूंज गांव तक होगी। मुख्यमंत्री ने सबकोे स्पष्ट कर दिया कि बिना एक-दूसरे का विरोध किए ग्राउंड में काम करें। सीएम ने मंडल को उपचुनाव की तैयारी शुरू करने के भी इशारा कर दिया है।  हालांकि चुनावों को लेकर बनने वाली पूरी रूपरेखा भाजपा संगठन ही तय करेगा। मुख्यमंत्री रविवार को टांडा मेडिकल कालेज के समारोह में पहुंचे थे, जिसके बाद सोमवार सुबह धर्मशाला से रवाना होने से पहले मंडल धर्मशाला के पदाधिकारियों से उपचुनाव को लेकर विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की। धर्मशाला में 40 वर्षों बाद खाली हुए स्थान की पूर्ति के लिए हर कार्यकर्ता अपने को सक्षम बता रहा है। इतना ही नहीं, सोशल मीडिया पर करीब एक दर्जन से अधिक लोगों ने अपने-अपने नाम भी चलवा रखे हैं, जिस पर कमेंट भी करवाए जा रहे हैं। इससे पार्टी व संगठन खुश नहीं दिख रहे हैं। मुख्यमंत्री ने सीधे-सीधे कह दिया है कि उपचुनाव में सोशल मीडिया वाले नाम नहीं होंगे, बल्कि धरातल पर काम करने वाले कार्यकर्ताओं को पार्टी पहले भी अधिमान देती आई है और आगे भी देगी।  चुनाव लड़ने या लड़वाने के लिए कई पहलुओं का अध्ययन किया जाता है और उसी आधार पर निर्णय किया जाता है। मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि कोई भी व्यक्ति यह न सोचे कि अधिक संख्या में लोग इकट्ठा करके कोई शक्ति प्रदर्शन करे और उसे टिकट मिल जाएगा, बल्कि भाजपा संगठन आधारित दल है, इसकी अपनी नीतियां व नियम हैं। जहां लोग काम करते-करते जीवन लगा देते हैं। पार्टी सबको साथ लेकर चलने में विश्वास करती है, इसलिए सभी कार्यकर्ता एकजुटता से भाजपा को मजबूत करने का काम करें।

मंत्रिमंडल विस्तार की जल्दी नहीं

मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलों पर विराम लगाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इसमें कोई जल्दबाजी नहीं है, जो भी निर्णय लिया जाएगा, सोच-समझकर और पूरे प्रदेश को ध्यान में रखकर लिया जाएगा। कांगड़ा सहित पूरे प्रदेश की जनता ने बीजेपी को बहुत बड़ा जनादेश दिया है। इसके लिए वह जनता के हमेशा आभारी हैं और जन कार्यों को तरजीह देना ही उनकी प्राथमिकता है। बिना पद की लालसा किए बहुत से कार्यकर्ता काम कर रहे हैं।

किशन कपूर ने सुनीं समस्याएं

मुख्यमंत्री के जाने के बाद सांसद किशन कपूर ने सोमवार को मंडल कार्यालय धर्मशाला में बैठकर लोगों की समस्याएं सुनीं। यहां उनके पास धर्मशाला ही नहीं, चंबा सहित अन्य स्थानों के लोग भी पहुंचने शुरू हो गए हैं। इससे पहले कपूर ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ कचहरी चौक पर स्थित एक चाय की दुकान में बैठकर चाय पर चर्चा भी की। सांसद बनने के बाद पहली बार कचहरी कार्यालय पहुंचे किशन कपूर को बधाई देने वालों की भी खूब भीड़ उमड़ी रही।

You might also like