घर-घर पहुंचाएंगे बेटी बचाओ अभियान

धर्मशाला—प्रदेश के सबसे बड़े जिला कांगड़ा का जिम्मा संभालने के बाद उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य और ग्रामीण विकास पर सबसे अधिक फोकस करेंगे। जिला में नए आइडिया पर काम शुरू करेंगे। शनिवार को उन्होंने कार्यभार संभालने के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि उन्हें जिला कांगड़ा के बारे में कुछेक बाते ध्यान में हैं। 2012 बैच के आईएएस अधिकारी राकेश प्रजापति शनिवार को देर शाम अपने कार्यालय पहुंचे। इससे पहले राकेश प्रजापति ऊना में बतौर जिलाधीश अपनी सेवाएं दे रहे थे।    इससे पूर्व राकेश प्रजापति ने एसडीएम नूरपुर, एडीसी शिमला तथा बतौर डीसी हमीरपुर में भी अपनी सेवाएं दी हैं। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि आम जनमानस की समस्याओं का त्वरित निदान करने को भी प्राथमिकता दी जाएगी।  इसके साथ ही पारदर्शी प्रशासन और विकास कार्यों को समयबद्ध पूरा करने की भी पहल की जाएगी। उन्होंने कहा कि समाज कल्याण, महिला एवं बाल विकास विभाग की तरफ  से आरंभ किए गए विभिन्न कार्यक्रमों का सुचारू कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा। इसके साथ ही बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को भी गांव-गांव तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि युवाओं को नशे से दूर रखने के लिए भी विशेष अभियान आरंभ किया जाएगा। ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र में स्वच्छता पर विशेष फोक्स रहेगा। उन्होंने कहा कि सौर ऊर्जा के प्रयोग को लेकर भी प्लान तैयार किया जाएगा। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला प्रदेश का सबसे बड़ा जिला है तथा इस जिला में लोगों को घर द्वार पर बेहतर सुविधाएं मिलें इस के लिए भी कारगर कदम उठाए जाएंगे।

You might also like