चंडीगढ़ में नो तंबाकू-डे पर फैलाई जागरूकता

चंडीगढ़। भारत दुनिया भर में तीसरा सबसे बड़ा तंबाकू उपयोगकर्ता है। डब्ल्यूएचओ के अनुसार, भारत में तंबाकू से हर साल लगभग एक मिलियन से अधिक लोगों की मौत होती है। वर्तमान में भारत में 266 मिलियन तंबाकू उपयोगकर्ता हैं और वहीं सेकंड हैंड धूम्रपान करने वालों की भी पर्याप्त संख्या है। यह कहना है ट्राइसिटी के प्रसिद्ध चिकित्सा ऑन्कोलॉजिस्ट डा. जतिन सरीन का। विश्व तंबाकू निषेध दिवस के अवसर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान डा. जतिन सरीन ने कहा कि दुनिया भर में 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप मनाया जाता है। उनका कहना है कि यह दिन किसी भी रूप में तंबाकू के हानिकारक प्रभावों के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए है।

You might also like