चंबा को जयराम से मंत्री पद की आस

चुवाड़ी—हिमाचल सरकार में चंबा जिला से भाजपा के चार विधायक हैं, लेकिन इनमें एक भी मंत्री नहीं है। हाल ही में हुए लोकसभा चुनावों में चंबा जिला से भाजपा प्रत्याशी किशन कपूर को सबसे ज्यादा लीड मिली थी। यही कारण है कि अब चंबा में आमजन और भाजपा समर्थक जयराम सरकार से चंबा जिला के लिए एक मंत्री पद की उम्मीद लगाए हुए हैं। बेशक मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर चुराह के विधायक हंसराज को विधानसभा उपाध्यक्ष बनाकर सियासी संतुलन को बूखबी बनाया था, लेकिन अब जिला ने फिर से भाजपा को बंपर लीड मिली है। ऐसे में भाजपा समर्थक खुलकर यह मांग उठाने लगे हैं कि कम से कम एक मंत्री पद तो चंबा जिला को मिलना ही चाहिए। इसे लेकर कुछ समय सोशल मीडिया में भटियात के विधायक विक्रम जरयाल को मंत्री पद की मांग उठाई गई थी। चूंकि उस समय जरयाल ने इस मांग को उनके खिलाफ  साजिश करार दिया था। बाकायदा शिकायत तक दर्ज करवाई गई थी। उन्होंने दो टूक कहा था कि उन्हें मंत्री पद नहीं चाहिए, लेकिन अब मांग उन्होंने नहीं आम वर्करों ने उठाई है। जरयाल समर्थकों का तर्क भी काफी हद तक सही है कि आखिर अकेले भटियात ने करीब 77 फीसदी लीड दी है। यह लीड कोई मामूली आंकड़ा नहीं है। बहरहाल चंबा जिला के सियासी गलियारों में कम से कम एक मंत्री पद की चर्चा ने जोर पकड़ लिया है।

भटियात भाजपा को बड़ी आस

भाजपा मंडलाध्यक्ष चुनी लाल, भाजपा महामंत्री दिव्य चक्षु, सचिव अनीता सूर्यवंशी, कोषाध्यक्ष सुशील रतड़ा, मीडिया प्रभारी अंशुल सूयवंशी, भटियात भाजयुमो महामंत्री अनिक गुप्ता का कहना है कि इस बार लोकसभा चुनावों में पार्टी ने शानदार प्रदर्शन किया है। उन्हें पूरी उम्मीद है कि इस बार जयराम सरकार में भटियात से विधायक विक्त्रम जर्याल को बड़ा पद मिलेगा।

कुछ ऐसे हैं प्रदेश के सियासी समीकरण

मौजूदा समय में प्रदेश में दो मंत्री पद खाली हुए हैं। पहला पद मंडी जिला से अनिल शर्मा द्वारा मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद खाली हुआ है। दूसरा पद धर्मशाला से विधायक व मंत्री किशन कपूर के लोकसभा चुनावों में जीतने के बाद खाली हुआ है। यही वजह है कि चंबा से मंत्री पद के लिए बड़ी आवाज बुलंद हुई है।

You might also like