चरस-चिट्टे के चंगुल में फंसी पहाड़ की जवानी

प्रदेश भर में हर साल बढ़ रहे नशाखोरी के मामले, पांच महीने में 400 केस दर्ज

शिमला – देवभूमि हिमाचल के युवा नशे की चपेट में आ रहे हैं। राज्य गृह विभाग के मुताबिक इस साल पहली जनवरी से 31 मई तक प्रदेश में नशे के 400 से अधिक केस दर्ज हुए हैं। इनमें सबसे अधिक चरस के 234 और चिट्टे के 166 केस शामिल हैं। गृह विभाग के अनुसार पांच महीने के अंदर करीब तीन किलो चिट्टे के साथ 166 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है, जिनमें से 116 अदालत और 50 के खिलाफ  पुलिस जांच चली हुई है। इस दौरान 155 किलो चरस बरामद की गई है। इन मामलों में पांच महीने में सात आरोपियों को सजा मिल चुकी है। इसी तरह चिट्टे के 166 केस में चार आरोपियों को सजा मिल चुकी है। प्रदेश में चरस और चिट्टे के साथ दूसरे नशे का कारोबार करने वालों के खिलाफ भी कई केस दर्ज हैं। हालांकि प्रदेश में नशे के सौदागरों पर नजर रखने के लिए सरकार प्रयास कर रही है। गृह विभाग के मुताबिक प्रदेश के संवेदनशील एवं अति संवेदनशील क्षेत्रों में इस वित्त वर्ष में 150 सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे। इसी तरह स्कूल एवं कालेज प्रबंधनों को कैंपस से 100 मीटर के दायरे में सीसीटीवी कैमरे स्थापित करने के भी सख्त निर्देश दिए गए हैं, जिसको लेकर राज्य पुलिस विभाग ने कवायद शुरू कर दी है। वहीं, हिमाचल जैसे शांत राज्य में मर्डर के मामले भी हर साल बढ़ रहे हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक पहली जनवरी से 31 मई तक के इन पांच महीने में प्रदेश भर में 24 मर्डर हो चुके हैं। कुल मिलाकर हर महीने पांच लोगों की हत्या हो रही है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2018 में 349 केस बलात्कार के आए थे। इसी तरह महिला हिंसा के 192 मामले दर्ज हुए हैं।  इन मामलों में अभी तक पुलिस विभाग पांच माह का आंकड़ा तैयार कर रहा है।

टै्रफिक नियम तोड़ने में बाइक सवार आगे

प्रदेश में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों में दोपहिया वाहन चालक भी पीछे नहीं हैं। पिछले पांच महीने में 10 हजार 759 बाइक चालकों के चालान किए और 8428 के खिलाफ  मामला दर्ज किया गया।

नशे की ओवरडोज से दो की मौत

प्रदेश में नशे के जाल में कई युवक फंस चुके हैं। इनमें कुछ तो अपनी जान से भी हाथ धो चुके हैं। कुछ दिन पहले जिला कांगड़ा के गांव भदरोआ में दो युवकों की मौत नशे की ओवरडोज की वजह से हुई थी। इनमें एक शव गुरु रविदास मंदिर के पास चक्की खड्ड को जाती सीढि़यों पर और दूसरा खड्ड के किनारे  झाडि़यों में मिला था। युवकों की उम्र 25 वर्ष के लगभग  थी। दोनों युवक पठानकोट के रहने वाले थे।

सुंदरनगर में चरस संग दबोचे शिमला के युवक

सुंदरनगर – पुलिस थाना सुंदरनगर के तहत पुलिस ने 81 ग्राम चरस बरामद की है। पुलिस ने इस मामले में संलिप्त दो युवकों को हिरासत में ले लिया है और एनडीपीएस अधिनियम  की 20 व 29 के तहत दर्ज करके कार्रवाई आरंभ कर दी है। एचसी संजीव कुमार ने बताया कि जब उन्होंने अन्य पुलिस कर्मचारियों के साथ नाका लगाया था तो स्कूटी (एचपी 52टी 6810) की तलाशी ली गई। इस दौरान सौरभ सेठी (23) पुत्र गोपाल सेठी निवासी हाउस नंबर-4 हरवीगाटोन हाउस डाकघर कलोसटौन तहसील व जिला शिमला व अरशद अहमद (28) पुत्र क्याम अहमद निवासी घोड़ा कार्ट रोड कृष्णा नगर अर्बन शिमला के कब्जे से 81 ग्राम चरस बरामद की गई। डिप्टी एसपी तरनजीत सिंह ने मामले की पुष्टि की है।

भदरोआ में चिट्टे के साथ धरा कार ड्राइवर

ठाकुरद्वारा – थाना डमटाल के अंतर्गत चिट्टे के कारोबार का गढ़ माने जाने वाले गांव भदरोआ में पुलिस ने  एक नशेड़ी कार चालक को चिट्टे सहित गिरफ्तार किया है। थाना डमटाल के प्रभारी अजीत कुमार ने बताया कि थाना डमटाल में किसी ने फोन पर सूचना दी कि नशा निवारण केंद्र भदरोआ के पास रोड पर एक व्यक्ति अपनी  दुर्घटनाग्रस्त कार के पास खड़ा है और नशे से धुत्त है। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो उसने अपने हाथ में पकड़ी हुई किसी चीज को एक तरफ फेंक दिया। पुलिस द्वारा जब उस चीज की जांच की गई, तो पाया वह 0.74 ग्राम चिट्टा था। आरोपी की पहचान शुभम भारद्वाज पुत्र अशोक कुमार निवासी सेराथाना नगरोटा बगवां के रूप में हुई है। डीएसपी नूरपुर साहिल अरोड़ा ने मामले की पुष्टि की है।

You might also like