चलार के उत्पाद बनाना सीखा

कुल्लू—बड़ाग्रां पंचायत में आधार स्तरीय हस्त शिल्प उत्पादन प्रशिक्षण का आयोजन किया जाएगा। प्रदेश पर्यटन विभाग द्वारा संचालित एशियन डिवेलपमेंट बैंक की सहायता से चल रही समुदाय आधारित पर्यटन परियोजना स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के लिए ग्राम पंचायत सेगली में पांच दिवसीय आधार स्तरीय हस्त शिल्प उत्पादन हेतु प्रशिक्षण (चलार निर्मित उत्पाद) का आयोजन 22 से 26 जून  तक किया गया। यह प्रशिक्षण सुदर्शना मुख्य प्रशिक्षक तथा संतोष कुमारी प्रशिक्षक द्वारा करवाया गया। इस प्रशिक्षण में चलार से निर्मित विभिन्न उत्पादों को बनाना सिखाया गया।  इस प्रशिक्षण में स्वयं सहायता समूह के लगभग 25 सदस्यों ने भाग लिया। इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य स्थानीय स्वयं सहायता समूहों को घर बैठे रोजगार के अवसर प्रदान करना और पर्यटन के साथ इन सजावटी उत्पादों को जोड़ना रहेगा।  प्रशिक्षण के अंत में समारोह में पंचायत उपप्रधान मनी राम राणा उपस्थित रहे और उन्होंने कहा कि पांच दिवसीय  प्रशिक्षण सफलतापूर्वक समाप्त हो रहा है। इसके लिए पर्यटन विभाग के सदस्यों का आभार किया। परियोजना दल के सदस्य राकेश नाथ तिवारी तथा सुमित बरवाल ने भी महिलाओं का उत्साहवर्द्धन किया। इस दौरान सहायता समूह से रीतू नेगी, पूनम, रीनू, पवनलता, हेमलता, बोधवंती, गीतांजलि, हीरा, मीरा, प्रीति, भारती आदि शामिल रहे।

You might also like