चहड़ी में कुएं-बावडि़यां भी सूखे

सरकाघाट—उपमंडल सरकाघाट की ग्राम पंचायत थौना के गांव चहड़ी में एक दर्जन परिवारों को एक माह से पानी नहीं मिल रहा है। 40 वर्ष पुराना टैंक भी खाली पड़ा है और गांव के कुएं, बावडि़यां भी सूख गई हंै। सड़क न होने की वजह से गांव में हैंडपंप भी नहीं है। लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए तरस रहे हैं। गांव के लोग नजदीकी खड्ड का गंदा पानी पिने पर मजबूर हैं। क्षेत्र के कृष्ण चंद राणा, तारा चंद राणा, हरवंश, वसंत सिंह राणा, भावना देवी, चंपा देवी, जुध्या देवी, प्रेम सिंह, मीना देवी, सत्या देवी, युवक मंडल के प्रधान अजय कुमार, विनित कुमार व अतुल कुमार आदि ने बताया कि विभाग को कई बार पानी की समस्या के बारे अवगत करवाया जा चुका है। लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि गांव के लोगों के लिए पानी की सप्लाई एक 40 वर्ष पहले बने टैंक से दी गई है और यह टैंक कई वर्षों से खाली पड़ा है और कुएं-बावडियां भी सूख गई हैं। उन्होंने बताया कि कुछ परिवार तो गांव से पानी और सड़क की वजह से पलायन कर चुके हैं। उन्होंने विभाग से मांग की है कि  शीघ्र चहड़ी गांव को रिस्सा या कांढापतन स्कीम से जोड़ा जाए तभी पानी की समस्या से उन्हें निजात मिलेगी। उन्होंने कहा कि अगर इस ओर कोई कार्रवाई अमल में नही लाई गई तो आईपीएच कार्यालय का घेराव कर धरना प्रदर्शन करने पर वे मजबूर हो जाएंगे। उधर, सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग के जेई ने कहा कि मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लेकर पानी की नियमित सप्लाई बहाल कर दी जाएगी।

You might also like