चाइल्ड लाइन ने दुकान से छुड़ाया बाल श्रमिक

श्रीरेणुकाजी —चाइल्ड लाइन टीम सिरमौर द्वारा ददाहू बस अड्डे पर स्थित स्वीट शॉप में एक नाबालिग, जो कि अनाथ भी है को बाल मजदूरी करवाई जा रही थी को रैस्क्यू करवाया गया है। बाल मजूदर की उम्र मात्र 12 वर्ष पंचायत, आधार कार्ड और स्कूली रिकार्ड के मुताबिक उजागर हुई है। चाइल्ड टीम नाहन के सदस्य रामलाल, परीक्षा कुमारी ने उक्त मामले को अब रेणुकाजी थाना में दर्ज करवाया है, जिस पर थाना रेणुकाजी मंे विभिन्न धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। चाईल्ड टीम की जिला समन्वयक सुमित्रा शर्मा ने बताया कि रेणुकाजी ददाहू से 1098 के माध्यम से ददाहू बस अड्डा पर स्थित निर्मल स्वीट शॉप पर 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चे द्वारा मजदूरी करने का मामला संज्ञान में लाया गया था। वहीं टीम ने उक्त स्वीट शॉप के दुकानदार को पूर्व मंे भी कई मर्तबा बाल मजूदर न रखने की हिदायतें दी थीं, मगर बावजूद इसके उक्त दुकानदार ने बाल मजूदर को काम पर रखा। वहीं रैस्क्यू किए गए बाल मजदूर की जब काउंसिलिंग की गई, तो उसने उजागर किया कि वह दुकान पर सुबह आठ बजे से रात्रि नौ बजे तक यानि 13 घंटे काम करता है, जिसमें 12 वर्ष का अनाथ बाल मजदूर चाय बनाना, गिलास धोना, साफ-सफाई इत्यादि काम करता था। जिला समन्वयक ने बताया कि एक माह में लगभग 390 घंटे बाल मजदूर उक्त दुकान में काम करता था, जिसे मात्र 3500 रुपए दिए जाते थे। चाईल्ड लाइन की टीम द्वारा मामला संज्ञान मंे आने के बाद टीम सदस्य रामलाल, परीक्षा, पुलिस कांस्टेबल कर्मजीत सिंह ने बच्चे को रैस्क्यू किया है, जिसके बाद सिरमौर बाल कल्याण समिति ने बच्चे को आदर्श बाल निकेतन बच्चे के हित और देखरेख के लिए भेज दिया है। जबकि मामले में टीम द्वारा जिला श्रम अधिकारी, उपायुक्त सिरमौर, पुलिस अधीक्षक सिरमौर को अवगत करवाया गया है।

You might also like