चोकसी की नागरिकता रद्द करेगा एंटीगुआ

नई दिल्ली। कैरेबियाई देश एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउनी ने कहा है कि भारतीय बैंक के साथ धोखाधड़ी के मामले में फरार मेहुल चोकसी की नागरिकता रद्द की जा सकती है। इसके बाद इस बात की संभावना बढ़ गई है कि उसे भारतीय अधिकारियों के हवाले किया जा सकता है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) एवं सीबीआई को चोकसी (60) और उसके भानजे नीरव मोदी की पंजाब नेशनल बैंक को 13400 करोड़ रुपए का कथित रूप से चूना लगाने के मामले की जांच में पूछताछ की जरूरत है। नीरव इस समय लंदन की जेल में है। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ब्राउनी ने कहा कि उसकी नागरिकता के आवेदन की जांच की गई थी। उसे नागरिकता मिल गई है, लेकिन उसे रद्द किया जाएगा एवं उसे वापस भारत भेजा जाएगा। (पर) इसका एक रास्ता है। ऐसा नहीं है कि हम वित्तीय अपराधों में लिप्त अपराधियों को पनाहगाह उपलब्ध करा रहे हैं। हमें तय प्रक्रिया का पालन करना होगा। उनके खिलाफ अदालत में मामला चल रहा है और हमने भारत सरकार को कहा है कि अपराधियों के भी मौलिक अधिकार होते हैं और चोकसी को अदालत का दरवाजा खटखटाने एवं अपना पक्ष रखने का अधिकार है।

You might also like