जंगलों की आग से हमीरपुर में मचा कोहराम

भोटी की पांच पंचायतों में जंगल राख

भोटा—पांच पंचायतों के जंगल धू-धू कर राख होते चले गए। भीषण आगजनी पर काबू पाना किसी के भी वश में नहीं था। आखिर पांच पंचायतों के जंगल स्वाह हो गए। ग्राम पंचाय अग्घार, सौर, पांडवीं, नंधन व करेर पंचायतों के जंगल आग की भेंट चढ़ गए। सिर्फ चीड़ के ऊंचे लंबे पेड़ों के सिवाय जंगल मंे अब कुछ नहीं बचा। जड़ी बूटियों से लेकर जीव-जंतु आकाल मौत की आगोश में समा गए। जंगल जलने से उमस भी बढ़ रही है। बता दें कि शनिवार को अग्घार पंचायत के तहत जंगल में आग लग गई। आग सड़क तक आ पहुंची। इस कारण सड़क पर चलने वाले वाहनों और आसपास के मकानों को भी खतरा पैदा हो गया। अग्धार पचांयत रेज के वीओ व वन कर्मी मौके पर पहंुचे और आग को बुझाने का प्रयास किया, लेकिन इस पर काबू पाना संभव नहीं था। स्थिति बेकाबू होता देख दमकल विभाग को सूचित किया गया। दमकल विभाग की गाड़ी मौके पर पहुंची और आग को एक तरफ से काबू किया गया। दमकल विभाग के कर्मचारिओं ने कड़ी मशक्कत के बाद ग्रामीणों के सहयोग से आग को घरांे तक पहुंचने से रोक लिया। अग्धार वन रेंज के अधिकारी केदारनाथ का कहना है कि जंगल की आग को बुझाने में रात के डेढ़ बज गए। उन्होंने कहा कि आग से हुए नुकसान का आकलन बरसात के बाद ही चलेगा। अग्निशमन केंद्र हमीरपुर के प्रभारी राजेंद्र चौधरी का कहना है कि दमकल विभाग के कर्मचारियों ने जंगल की भयंकर आग की लपटों से लोगों के घरों को बचाया है।

You might also like