जंगल में आग, 12 लाख की संपत्ति बचाई

नालागढ़—नालागढ़ उपमंडल में आग की दो घटनाओं में शीशम व बांस के छोटे -बड़े पेड़ जलकर नष्ट हो गए हैं, जबकि फायर ब्रिगेड की मुस्तैदी से कई बीघा भूमि पर लगे अन्य पेड़ों को जलने से बचा लिया गया है। आगजनी की ये घटनाएं नालागढ़ उपमंडल के गुरदासपुरा और मंडयारपुर में घटित हुई है। गुरदासपुरा में लगी आग से बांस के जंगल में आग लगी थी, जबकि मंडयारपुर में शामलात भूमि पर लगे शीशम के छोटे पेड़ जल गए और कई झुलस गए हंै। दोनों जगह आग लगने के कारण अज्ञात हैं और आग से दोनों जगहों पर आठ हजार का नुकसान हुआ है, जबकि फायर ब्रिगेड की मुस्तैदी से 12 लाख की संपत्ति को जलने से बचा ली गई है। जानकारी के अनुसार नालागढ़ उपमंडल के चंगर क्षेत्र के गुरदासपुरा में 10 बीघा भूमि पर लगे बांस के पेड़ों में आग लग गई। आग की लपटें देखकर ग्रामीण आग बुझाने में जुट गए, वहीं इसकी सूचना फायर ब्रिगेड को दी गई। सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड नालागढ़ की टीम एक वाहन के साथ मौके पर पहंुची और आग पर काबू पाया और आसपास के अन्य पेड़ों को जलने से बचा लिया। आग से पांच हजार की वन संपदा को नुकसान हुआ है, जबकि फायर ब्रिगेड ने एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाते हुए साथ लगते देशराज और राजेंद्र सिंह के मकानों सहित अन्य 10 लाख की संपत्ति को जलने से बचा लिया। उधर, नालागढ़ उपमंडल के मंडयारपुर में शामलात भूमि पर लगे शीशम के छोटे पेड़ों को क्षति पहंुची है।  यहां लगी आग से तीन हजार का नुकसान हुआ है, जबकि करीब दो लाख की अन्य छोटे व बड़े शीशम के पेड़ों को जलने से बचा लिया गया। दोनों जगहों पर फायर ब्रिगेड टीम में प्रशामक राजेंद्र सिंह, अमर चंद व चालक किशोरी की टीम ने आग पर काबू पाया। फायर ब्रिगेड नालागढ़ के फायर आफिसर पीर सहाय कौंडल ने बताया कि दो जगहों लगी वनों की आग पर सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की टीम ने आग पर काबू पाया और दोनों जगहों पर आठ हजार की वन संपदा आग से नष्ट हो गई, जबकि 12 लाख रुपए की संपत्ति को जलने से बचा लिया गया है। दोनों जगह आग लगने के कारण अज्ञात हैं।

You might also like