जघोरी में दोमंजिला मकान राख

रामपुर बुशहर—रामपुर उपमंडल के पंद्रह बीस क्षेत्र के जघोरी गांव में गुरूवार सुबह एक दो मंजिला मकान जल कर राख हो गया। इस अग्निकांड में दो गाय और बीस भेड़ें जिंदा जल गई। ये आग दोगरी में लगी, ये ही वजह थी कि जब आग लगी तो मकान मालिक उस मकान में नहीं थे। मकान मालिक इस घर का उपयोग केवल अपने पशुओं को यहां पर बांधने के लिए करते थे। प्रशासन ने इस आगजनी में सवा लाख रूपए का नुकसान आंका गया है। जबकि ग्रामीणों का कहना है कि इस आगजनी में सवा लाख से कहीं ज्यादा नुक्सान हुआ है। प्रशासन ने मौके पर पहुंच कर प्रभावित परिवार को फौरी राहत राशि के तौर पर पांच हजार रूपये और एक तिरपाल दिया है। आग लगने के सही कारणों का अभी तक कोई पता नहीं चला पाया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार रामपुर उपमंडल के पंद्रह बीस क्षेत्र के जघोरी गांव निवासी दाता राम पुत्र काडू राम के घर में गुरूवार सुबह को अचानक आग लगी। आग इतनी भयानक थी कि एकाएक ही उसने सारे घर को अपने चपेट में ले लिया। ग्रामीणों को इस आगजनी का पता तब चला जब जघोरी के बिल्कुल सामने वाले गांव फांचा के ग्रामीणों ने देखा कि सामने एक घर में आग लगी हुई है। वहां से फोन पर ग्रामीणों को सूचित किया गया। जिसके बाद ग्रामीण मौके पर पहुंचे और आग पर काबू करने की कोशिशें करने लगे। लेकिन आग इतनी भयानक थी कि लोगों के सामने की लकड़ी से बना दो मंजिला मकान पूरी तरह से जल कर राख हो गया और सभी लोग कुछ न कर सके। इस मकान में चार कमरें थे, जो पूरी तरह से जलकर स्वाह हो गए। आग इतनी भयानक थी कि ग्रामीण दो गाय और बीस भेड़ों को भी बाहर नहीं निकाल पाए और सभी बेजुबान पशु भीतर ही जिंदा जल गए। दुर्गम क्षेत्र होने के कारण यहां पर अग्निशमन विभाग की गाडि़यां पहुंचना आसान नहीं है। जबकि तक यहां पर रामपुर से दमकल वाहन पहुंचेंगे तब तक आग अपना तांडव कर चुकी होगी। ग्रामीणों ने अपने स्तर पर बाल्टियों में पानी लाकर आग पर काबू पाने की कोशिशें तो बहुत की लेकिन लकड़ी का घर होने के कारण आग पर काबू नहीं पाया जा सका।

You might also like