जल्द लागू करें  5-10-15 की बेसिक पेंशन

जवाली—जिला कांगड़ा पेंशनर संघ इकाई कोटला की विशेष बैठक सामुदायिक भवन कोटला में जिला प्रधान पीएस राणा की अध्यक्षता में आयोजित हुई। इस बैठक में हिमाचल प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों से सेवानिवृत्त लगभग 225 पेंशनर पदाधिकारियों  ने भाग लिया। दिवंगत पेंशनरों की आत्माओं की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा गया। बैठक में सभी खंड प्रधानों ने सहयोग प्रकट करते हुए कहा कि संघ के द्विवार्षिक चुनाव अगले वर्ष के प्रारंभ तक स्थगित कर दिए जाएं, ताकि जिला कांगड़ा पेंशनर संघ  स्टेट वेलफेयर एसोसिएशन के साथ मिलकर एवं संघ की शक्ति बढ़ाकर संघ में एकरूपता लाए। इसके लिए दूसरी औपचारिकताएं मिलकर हल कर ली जाएंगी।  इस अवसर पर सभी ब्लॉकों ने सहमति लिखित रूप में जिला प्रधान को सौंप दी कि एक ही संघ होना चाहिए। इसके साथ ही वक्ताओं ने सरकार से  अनुरोध किया  कि दिहाड़ीदार बेलदारों एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के हक में 25 अगस्त, 2018 को सर्वोच्च न्यायालय ने  पहली जनवरी, 2018 से पेंशन देने का फैसला किया था, उसे अक्षरतरू लागू किया जाए। पेंशनरों ने एकमत से प्रस्ताव पारित किया कि सरकार पेंशनरों  को 5-10-15 प्रतिशत बेसिक पेंेशन वृद्धि अतिशीघ्र लागू करे। इसके अलावा  इस बैठक में पेंशनरों की अन्य समस्याओं के बारे में विचार विमर्श किया गया एवं पेंशनरों को नई स्कीमों के बारे में जागरुक भी किया गया। इस अवसर पर महासचिव राजेंद्र कौशल, कोटला इकाई प्रधान भूमि सिंह चौहान, नगरोटा सूरियां प्रधान गुरुदेव भारती, रामपाल धीमान, लखपत राय, रतन चंद कौंडल, सुभाष गौतम, सुरेश कुमार, सुभाष मतलोटिया, प्रेम चंद भारद्वाज, भंडारी लाल, सुशील शर्मा, राम शर्मा, मस्त राम सैणी, सुखदेव व ध्यान सिंह आदि मौजूद रहे।

You might also like