जल संकट को प्रभावी नीति

– डा. आरएल गुप्ता, शिमला

वैसे तो प्रशासन को सलाह देने के लिए अफसरों की सभा होती है, फिर भी समय-समय पर वर्कशॉप होती रहे, जो निम्न विषयों पर सुझाव देते रहें। यथा- पीने के पानी की समस्या कितनी, कहां-कहां तथा कैसी है। पानी के नए उद्गम कैसे बनाए जाएं। पानी किस तरह उच्चकोटि का बनाएं तथा कैसे इसकी निरंतरता बनाए रखें। धीरे-धीरे घरों से पानी की टंकियां हटाएं तथा ओवर हेड टैंक बनें। पानी के संचय को मिशन बनाएं। सबको पानी मिले, सबसे पानी के लिए पैसा लें। सूबे के सब घरों में क्या पानी का बिल आता है? पानी दूध तथा राशन की तरह हर घर में पहुंचाएं, रसोई गैस की तरह। आशा है कि पानी विभाग जल संकट दूर करने के लिए निरंतर प्रभावी कदम उठाएगा।

You might also like