जाम से पिस रहा भुंतर शहर

सुबह से शाम लग रही वाहनों की कतारें, पुलिस का प्लान नहीं कर रहा काम

भुंतर –समर सीजन में जाम के बोझ से पिस रहे भुंतर को इससे मुक्त करवाने के पुलिस महकमे के मास्टर प्लान के दांव पंेच भी कम पड़ रहे हैं। पर्यटन सीजन के चरम पर पहुंचने के बाद पुलिस प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत मनाली-रोहतांग में झोंक दी है, लेकिन कुल्लू-मनाली के पर्यटन कारोबार की धुरी भुंतर में ट्रैफिक कंट्रोल नहीं हो पा रहा है और पुलिस को खूब पसीना बहाना पड़ रहा है। पर्यटन सीजन के बीच कुल्लू-मनाली के अलावा मणिकर्ण के लिए हर रोज भुंतर के रास्ते करीब तीन हजार से अधिक वाहन गुजर रहे हैं और यहां के तंग रास्तों पर दबाव इतना बढ़ गया है कि फुर्सत का नाम नहीं है। पुलिस प्रशासन ने हाल ही में भुंतर के यातायात को  लेकर प्लान बनाया था और इसके बाद विशेष टीम को यहां पर जाम से निपटने के लिए लगाया है और अतिरिक्त जवानों की तैनाती हुई है लेकिन इसके बावजूद विशेष सुधार अभी नजर नहीं आ रहा है। लोगों के अनुसार कुल्लू-मनाली और मणिकर्ण के लिए भी जब भुंतर से ही रास्ता है तो यहां पर ट्रैफिक कंट्रोल की व्यवस्था समझ से परे हैं और स्थानीय पुलिस टीम की रणनीति काम नहीं कर रही है। 15 जून से भुंतर मेला आरंभ होने वाला है और ऐसे में जाम की स्थिति और गहरा सकती है। शहरवासियों ने प्रशासन व सरकार से जाम से निपटने के लिए विशेष प्रयास मांगे हैं। भुंतर के थाना प्रभारी विकास कुमार कहते हैं कि जाम से निपटने के लिए गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने वाहन चालकों से भी सहयोग मांगा है और कम जाम वाले वैकल्पिक मार्गों का ज्यादा प्रयोग करने का आग्रह किया है।

You might also like