जिला स्तरीय बैठकों में उपस्थित रहें अधिकारी

कुल्लू—हाल ही में जिला कुल्लू के उपायुक्त का कार्यभार संभालने वाली उपायुक्त डा. ऋचा वर्मा पहली बैठक में ही उन अधिकारियों पर गंभीर दिखीं जो, उनकी पहली बैठक में ही अनुपस्थित रहे। उपायुक्त ने ऐसे अधिकारियों को नसीहत दी है कि वह निष्ठा से कार्य करें। वहीं, बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों से जवाब मांगा है। लिहाजा, बैठक में अधिकारियों की अनुपस्थिति पर उपायुक्त गंभीर दिखीं। उपायुक्त ने कहा कि ऐसी बैठकों को गंभीरतापूर्वक लिया जाना चाहिए, जिनमें आम जनता की समस्याओं और सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर विचार-विमर्श किया जाना शामिल हो। उन्होंने बैठक में कुछ अधिकारियों की अनुपस्थिति का कड़ा संज्ञान लेते हुए चेतावनी जारी करने को कहा। उन्होंने कहा कि विभाग मांगी गई सूचनाओं को तुरंत से उपलब्ध करवाएं और किसी प्रकार के विलंब पर सख्ती से निपटा जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों व कार्यक्रमों का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करना हम सबका दायित्व है ताकि आम जनमानस को इन योजनाओं का समय पर लाभ प्राप्त हो सके।

नदी किनारे सैल्फी न लेने की चेतावनी

उपायुक्त ने ब्यास तथा अन्य सहायक नदी-नालों के बीच सैल्फी न लेने की चेतावनी दी  है। उन्होंने कहा कि बहुत से सैलानी तेज बहाव वाली नदियों के समीप शिलाओं पर चढ़कर सेल्फी लेते नजर आते हैं और यदा-कदा दुर्घटना का शिकार भी बन जाते हैं। उन्होंने सभी एसडीएम को नदियों के किनारे शीघ्र चेतावनी बोर्ड लगवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पुलिस भी ऐसे संवेदनशील स्थलों पर सैलानियों को नदी के समीप जाने से रोके और स्थानीय लोगों से भी इस संबंध में पर्यटकों को सचेत करने का आग्रह किया।

You might also like