झमाझम बारिश…. सुहाना हुआ मौसम

गागल-बल्ह उपमंडल में सोमवार बाद दोपहर घुमड़ी काली घटाओं ने जब झमाझम बारिश की झड़ी लगाई तो गर्मी से त्रस्त लोगों के चेहरे ऐसे खिल गए जैसे नया जीवन मिल गया हो। घुमड़-घुमड़ कर आते बादलों ने फुहारों का ऐसा समा बांधा कि देखते ही देखते सड़कों, नालियों और खेतों में विभिन्न दिशाओं से जलधाराएं बहने लग गइर्ं और तपती धरती और सूर्य की प्रखर किरणों से निकलती प्रचंड गर्मी एकाएक खुशगवार मौसम में तबदील हो गई। सबसे ज्यादा सकून किसानों में देखा गया, जो मक्की की बिजाई के लिए कई दिनों से इंद्र देव से वर्षा की गुहार लगा रहे थे। गौर तलब है कि अच्छी फसल के लिए आजतक मक्की की बिजाई हो जानी चाहिए थी और अगर अभी हफ्ता भर और बारिश न होती तो मक्की बिजाई में विलंब हो जाना था। जिससे किसानों को मक्की की उचित फसल नहीं प्राप्त हो सकती थी, लेकिन आज की भरपूर बारिश ने खेती के कार्य को पटरी पर ला दिया है, जिससे किसान-बागबान अति प्रसन्न हैं। आमजन भी भयंकर गर्मी और धूल-मिट्टी से निजात पाकर खुश हैं।

You might also like