टाहलीवाल में सैकड़ों ने अता की नमाज

 टाहलीवाल—रमजान महीने के अलविदा जुम्मा (यानी आखिरी जुम्मे) पर शुक्रवार को नमाज पढ़ने के लिए टाहलीवाल मस्जिद में रोजेदारों की भारी भीड़ उमड़ी। इतनी ज्यादा गर्मी होने के बावजूद भी रोजे रख कर सैकड़ों की तादाद में लोग नमाज पढ़ने के लिए पहुंचे थे। टाहलीवाल के मौलाना मोहम्मद राशीद सुल्तान ने डेढ़ बजे अलविदा जुम्मा की नमाज अता करवाई। मौलाना ने तकरीर करते हुए कहा की हरेक मुसलमान को ईद की नमाज से पहले फितरा दो किलो 45 ग्राम अनाज या इसकी कीमत किसी गरीब को देने को कहा। मौलाना ने बताया कि हमारे नवी सल्लाहु आलेही बसलम ने फितरा अता करने के लिए कहा, ताकि इस फितरे के पैसे से जो गरीब हंै वे परिवार का खर्च कर सके और अपनी जरूरत पूरी कर सकंे। हर एक रोजेदार की आंखें रमजान महीने के अलविदा जुम्मे की विदाई पर नम नजर आईं। सैकड़ों की तादाद में रोजेदारों ने सजदे में सिर झुकाया। खुदा की इबादत के जज्बे से लबरेज रोजेदारों ने मुल्क की तरक्की शांति, समृद्धि एवं परिवार की खुशी के लिए अल्लाह से दुआ मांगी। दुआ में अमन की अपील ऐ अल्लाह! तू हम सबकी परेशानियों को दूर फरमा। हमने जो पूरे रमजान रोजे रखे, इबादत की हैं, तू उसे अपनी बारगाह में कबूल फरमा। हमारे देश में अमन और खुशहाली अता कर। हमारे देश को बुरी नजरों से बचा। इस मौके पर रोशन दीन, गुड्डू, मकसूद, महमूद, शकील, काला बाबा, इस्लाम, भली खान, चूड़दीन, बशीर दीन, गुलाम मोहम्मद,  करीम दीन, चूड़दीन, बैसाख दीन, रशांत दीन, सलीम दीन, सदीक दीन, नजीर दीन, अब्दुल, अनवर खान, दिलवर खान समेत सैकड़ों लोग मौजूद थे।

You might also like