टिप्पणियां करने वाले कांग्रेस नेता सावधान

शिमला —सोशल मीडिया पर पार्टी नेताओं के खिलाफ टिप्पणियां करने वाले कांग्रेसी अब सतर्क हो जाएं, क्योंकि उनकी ऐसी टिप्पणियों पर संगठन कार्रवाई करेगा। प्रदेश कांग्रेस ने सोशल मीडिया में पार्टी के नेताओं के खिलाफ  तल्ख टिप्पणियों को गंभीरता से लेते हुए इसे अनुशासनहीनता माना है। संगठन इसे किसी भी स्तर पर सहन नहीं करेगा। प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने सोशल मीडिया में एक वर्ग द्वारा पार्टी के नेताओं के खिलाफ  अभद्र टिप्पणियों पर कड़ा संज्ञान लेते हुए इसे तुरंत बंद करने को कहा है। इस संदर्भ में उन्होंने चुनाव के बाद सोशल मीडिया में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ तल्ख व अभद्र टिप्पणियों पर अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि यह किसी भी स्तर पर सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने इसकी जांच के लिए सोमवार को यहां पार्टी के चार सदस्यों की एक कमेटी का गठन किय, जो ऐसे सभी मामलों की पड़ताल कर उन पार्टी कार्यकर्ताओं का पूरा इतिहास जानेगी, जो इसमें शामिल पाए जाएंगे। कमेटी इस बात की भी जांच करेगी की यह सब किसके इशारे पर किया जा रहा है और इसके पीछे कोई नेता या पार्टी पदाधिकारी तो नहीं है। कुलदीप राठौर ने कहा है कि पार्टी के भीतर अनुशासनहीनता किसी भी स्तर पर सहन नहीं होगी, चाहे वह कितना भी प्रभावशाली नेता क्यों न हो। पार्टी अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव हरि कृष्ण हिमराल ने बताया कि पार्टी ने ऐसे लोगों को पहले भी चेतावनी दी थी, लेकिन वे नहीं सुधरे हैं। चूंकि अब प्रदेशाध्यक्ष ने इसकी जांच का जिम्मा उन्हें सौंपा है, तो इस पूरे मसले की जांच बारीकी से शुरू कर दी गई है। इसमें शामिल पार्टी कार्यकर्ताओं को नोटिस जारी कर उन्हें ऐसी टिप्पणियों को तुरंत बंद करने को कहा जाएगा। उनका कहना है कि अगर किसी कार्यकर्ता या नेता को किसी से कोई नाराजगी है तो वह सोशल मीडिया में न जाकर उचित फोरम पर या उनसे सीधे संवाद कर सकते हैं।

कमेटी एक हफ्ते में देगी रिपोर्ट

चार सदस्यीय समिति में पार्टी अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव हरि कृष्ण हिमराल, प्रेस सचिव बलदेव ठाकुर, सोशल मीडिया संयोजक राजेंद्र शर्मा व राजेंद्र वर्मा को शामिल कर जांच का जिम्मा सौंपा गया है। समिति को एक हफ्ते के भीतर पूरी जांच कर तथ्यों सहित रिपोर्ट देने को कहा है। इसके बाद गुण दोष के आधार पर कार्रवाई होगी।

You might also like