ठेका बंद नहीं किया, तो होगी तालाबंदी

धर्मपुर—उपमंडल धर्मपुर की लंगेहड़ पंचायत के लंगेहड़ गांव में शराब का ठेका खोलने का महिला मंडलों ने दूसरे दिन शुक्रवार को धरना दिया। महिला मंडल की सदस्यों व लंगेहड़ पंचायत के उपप्रधान संजय कुमार ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर शनिवार सुबह दस बजे तक ठेका बंद नहीं किया गया तो ठेके की तालाबंदी की जाएगी, जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन व विभाग की होगी। गौरतलब है कि वर्ष 2017 भी इस जगह के करीब ही ठेका खोला गया था, उस समय भी विरोध के बाद ठेके को दूसरी जगह बदल दिया था। गुरुवार को भी महिलमंडलों ने ठेके के विरोध में धरना दिया था। महिला मंडल की सदस्यों का आरोप है कि जिस जगह पर यह ठेका खोला गया।  वहां आसपास सरकारी विभागों के कार्यालय हैं। यहां से रास्ता भी गुजरता है, जिसमें महिलाओं और स्कूल के बच्चों का आना-जाना लगा रहता है। इसलिए महिला मंडल इस ठेके का विरोध कर रहे हैं। पूर्व में जब यहां पर ठेका खोला गया था, तब महिला मंडलों के विरोध के कारण उसे बदलने के बाद विभाग व प्रसाशन ने इस वर्ष फिर से इस जगह पर ठेका खोलने का फैसला क्यों लिया यह सोचने वाली बात है। महिला मंडलों को इस जगह पर ठेका खुलने की भनक कुछ दिन पूर्व लग गई थी, इसलिए 15 मई को एसडीएम धर्मपुर को ज्ञापन देकर ठेका इस जगह पर न खोलने की मांग भी  की थी। गुरुवार को ठेके के बाहर धरने में कौशल्या देवी प्रधान महिला मंडल ठाणा, व्यास देवी प्रधान महिला मंडल लंगेहड़ द्वितीय, दमोदरी देवी, लीला  शर्मा प्रधान महिला मंडल बारल, सुनीता देवी, रमा देवी, सुलेखा, कमली, रोशनी, विमला, विद्या देवी, मिना देवी, मुकेश देवी, रवना देवी, शांता देवी, मीरा देवी, बबली देवी, विजय, रेखा, कांति, सुलेखा, अनु तनबि, रीना, प्रिया व सुलेखा आदि ने भाग लिया। महिला मंडल की चेतावनी के बाद शुक्रवार को पुलिस भी मौके पर मौजू रही।  थाना प्रभारी धर्मपुर सुरम सिंह ने बताया कि पुलिस मौके पर गई थी। महिला मंडल की सदस्यों व ठेकेदार को आपस में बैठकर इस मामले को हल करने की सलाह दी गई है। अगर कोई कानून को हाथ में लेगा तो उसके विरुद्ध कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

You might also like