डंगार का जंगल सुलगा, वन संपदा स्वाह

घुमारवीं—जिला में पड़ रही प्रचंड गर्मी में जंगल आग से दहक रहे हैं। जंगलों में आग लगने का सिलसिला नहीं थम रहा है। जंगलों की आग से वातावरण और अधिक गर्म हो गया है। आग से जहां वन संपदा जलकर स्वाह हो रही है, वहीं जंगलों में रहने वाले जानवरों के जीवन पर भी संकट मंडरा रहा है। रविवार रात को डंगार के समीप जंगल में अचानक आग भड़क गई। देखते ही देखते आग ने भयंकर रूप धारण कर लिया। आग से काफी वन संपदा को नुकसान पहुंचा है। लोगों ने आग को बुझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन आग बढ़ती ही गई। आग लगने की सूचना फायर बिग्रेड को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे फायर चौकी के दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया। जिसके बाद लोगों ने राहत ली। डंगार गांव के बनवारी लाल शर्मा सहित अन्य ने बताया कि रविवार रात को जंगल में अचानक आग लग गई। आग की लपटांे को बढ़ता देख आसपास के घरों के लोगांे को परेशानी उठानी पड़ी। आग को रिहायशी इलाके की ओर बढ़ता देख लोगों ने आग बुझाने के लिए खुद ही घड़े उठा लिए। इलाके में पिछले 15 दिनों से पानी की दिक्कत बनी हुई है। किसी भी घर में पानी का स्टोरेज नहीं था। इस दौरान लोगों ने आईपीएच विभाग के अधिकारियों को फोन किया तथा समस्या से अवगत करवाया। जबकि फील्ड के कर्मियों को भी इससे रू-ब-रू करवाया। लोगों ने विभागीय अधिकारियों से टैंक से पानी की सप्लाई छुड़ाने की गुजारिश की। जिससे लोग रिहायशी इलाके की ओर बढ़ती आग को काबू पा सके। लेकिन, इस पर कोई भी कार्रवाई नहीं की गई। बतातें चलें कि गर्मियों के मौसम में पिछले कुछ दिनों से आग से जंगल दहक रहे हैं। इससे पहले  हवाण, ओसल व हरलोग सहित अन्य जंगलों में आग लग चुकी है। आग लगने से जहां काफी वन संपदा जलकर स्वाह हो रही है, वहीं जंगलों में रहने वाले जीव-जंतुओं के जीवन पर भी संकट मंडरा रहा है। जंगलों में भड़क रही आग से गर्मी में भी उछाल आ रहा है। इससे मानव जीवन भी काफी प्रभावित हो रहा है।

You might also like