डायरिया से निपटने को प्लान तैयार

सोलन में मलेरिया-डेंगू को लेकर भी प्रशासन सतर्क,डीसी ने अधिकारियों को बैठक में दिए निर्देश

सोलन –जिला सोलन में आगामी वरसाती मौसम में होने वाली डायरिया मलेरिया तथा डेंगू जैसी जल जनित बीमारियों से बचाव के संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज एक बैठक का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता उपायुक्त सोलन विनोद कुमार ने की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मलेरिया डायरिया तथा डेंगू जैसी घातक बीमारियों से बचाव के संबंध में लोगों को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करना तथा स्कूली बच्चों को भी स्कूलों में अध्यापकों के माध्यम से इस संबंध में जानकारी प्रदान करना अत्यंत आवश्यक है, उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग नियमानुसार आशा वर्कर के माध्यम से ओ आर एस  घोल की उपलब्धता सुनिश्चित करें, ताकि जरूरत पड़ने पर यह ग्रामीण क्षेत्रों में तुरंत उपलब्ध हो सके। उपायुक्त ने कहा कि गांवों में प्राकृतिक जल स्त्रोतों की साफ -सफाई, जल परीक्षण तथा ब्लीचिंग पाउडर के उपयोग बारे लोगों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा ज्यादा से ज्यादा जागरूक किया जाए। बैठक में सर्वप्रथम मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाक्टर आर के दड़ोच ने उपायुक्त सोलन तथा आए हुए सभी अधिकारियों का स्वागत किया तत्पश्चात उन्होंने प्रदेश तथा केंद्र सरकार द्वारा स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से प्रदेश में चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के संबंध में विस्तृत जानकारी दी उन्होंने बताया कि जिला में 10 से 19 वर्ष की बेटियों के लिए 117400 सेनेटरी नैपकिन आशा कार्यकताओं तथा विद्यालयों के माध्यम से वितरण के लिए विभिन्न चिकित्सा खंडो में पहुंचा दिए गए हैं। बैठक में बायो मेडिकल मैनेजमेंट के संबंध में भी चर्चा की गई। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाक्टर आर के दरोच, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. एन के गुप्ता, जिला कार्यक्त्रम अधिकारी डा. मुक्ता रसतोगी, जिला सलाहकार डा. शालू ,जिला कार्यक्रम अधिकारी वंदना चौहान ,खंड चिकित्सा अधिकारी धर्मपुर डाक्टर  अल्पना ,खंड चिकित्सा अधिकारी चंडी डाक्टर संगीता उप्पल, खंड चिकित्सा अधिकारी डाक्टर श्याम लाल वर्मा, डाक्टर अंकुश घई, सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।

 

You might also like