डायरी अधूरी, होमवर्क भी नहीं किया चैक

मंडी—शिक्षा विभाग की इंस्पेक्शन कैडर टीम द्वारा स्कूलों का औचक निरीक्षण जारी है। पांच सदस्यीय टीम ने  लडभड़ोल क्षेत्र के करीब 15 स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान अधिकांश स्कूलों में काफी खामियां पाई गईं, जिसके चलते इंस्पेक्शन कैडर की उपनिदेशक वीना धीमान स्कूल स्टाफ के साथ बैठक करके खामियों को जल्द सुधारने के निर्देश दिए। बता दें कि गत माह शिक्षा विभाग ने प्रदेश की समस्त इंस्पेक्शन कैडर टीमों को स्कूलों में औचक निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं, जिसमें कहा गया है कि टीम स्कूलों की व्यवस्था को चैक कर हर रोज रिपोर्ट भेजे। इंस्पेक्शन कैडर टीम ने पहली मर्तबा लडभड़ोल क्षेत्र के करीब 15 प्राइमरी, मिडल, उच्च व सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में दबिश दी। दबिश में टीम ने पाया कि  कुछ स्कूलों में बच्चों की काफी संख्या कम होने के बावजूद शिक्षक टीचर डायरी  अधूरी है।  शैक्षणिक सत्र 2019-20 के तीन माह बीतने को है, पर स्कूलों में बच्चों की लर्निंग लेवल कमजोर है। बच्चों का होमवर्क भी शिक्षक समय पर चैक नहीं कर रहे हैं, जबकि कुछ स्कूलों में बेहतर व्यवस्था पाई गई, जिसके चलते इंस्पेक्शन कैडर टीम ने स्कूल स्टाफ की सराहना की। वहीं जिन स्कूलों में खामियां पाई गई हैं, उन स्कूलों की रिपोर्ट तैयार कर शिक्षा निदेशालय भेज दी है। वहीं इस संदर्भ में शिक्षा विभाग मंडी की उपनिदेशक वीना धीमान ने कहा कि लड़भड़ोल क्षेत्र के करीब 15 स्कूलों में औचक निरीक्षण किया गया। इसमें कुछ स्कूलों में बच्चों का लर्निंग लेवल व टीचर डायरी में काफी खामियां पाई गईं। भविष्य में खामियों को सुधारने के निर्देश दिए गए हैं।

इन स्कूलों में पहुंची पांच सदस्यीय टीम

इंस्पेक्शन कैडर टीम ने लडभड़ोल क्षेत्र के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला  व प्राइमरी गोलवां, लडभड़ोल, उटपुर, पंडोल, भ्राडपट्ट, राजकीय प्राइमरी व उच्च पाठशाला करसाल सहित अन्य स्कूलों में औचक निरीक्षण किया।

You might also like