डिफाल्टर किराएदारों को एक माह की मोहलत

नगरोटा बगवां —किराएदारों के पास फंसी अपनी 14 लाख के करीब की बकाया वसूली के लिए नगरोटा बगवां नगर परिषद ने एक बार फिर हुंकार भरी है । शुक्रवार को परिषद अध्यक्ष स्वर्णा वालिया की अध्यक्षता में हुई मासिक बैठक में परिषद ने सभी डिफाल्टर किराएदारों को एक बार फिर अपने इकरारनामे रिन्यू करवाने का आमंत्रण दिया है। साथ ही यह चेतावनी भी दी है कि यदि एक माह के भीतर पिछला बकाया न चुका कर नया एग्रीमेंट नहीं बनाया, तो कानूनी कार्रवाई के साथ परिसरों की बिजली भी गुल कर दी जाएगी। गौर रहे कि शहरी क्षेत्र में वर्षों पहले आबंटित 100 से अधिक दुकानों के किराए की वसूली के लिए परिषद लंबे समय से हाथ पैर मार रही है, लेकिन बकाए की यह रकम लाखों के आंकड़े को पार कर चुकी है, जबकि परिषद आज भी हाथ मलती ही नजर आ रही है। उधर अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले आवासीय, व्यवसायिक तथा सरकारी परिसरों का सालाना शुल्क निर्धारित कर पाना भी परिषद के लिए सिर दर्द बना हुआ है ।  शुक्रवार को हुई बैठक में पुनः पूर्व निर्धारित दरों में संशोधन कर शहरवासियों को राहत देने का निर्णय लिया गया। नए निर्णय के मुताबिक अब कच्चे मकान का शुल्क 40 पैसे, पक्के मकानों के 50 पैसे  तथा व्यवसायिक परिसर पर 1.50 पैसे प्रति फुट के हिसाब से वसूला जाएगा। परिषद ने यह भी व्यवस्था की कि   जिन शहरवासियों ने पुरानी दरों  00.50.00.75 व दो रुपए के हिसाब से  गृह कर जमा करवा दिया है, उसका समायोजन अगले वर्ष के गृह कर में कर लिया जाएगा। इस दौरान गोशाला तथा शौचालय क्षेत्र को शुल्क से बाहर रखा गया है। बैठक में नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी चमन कपूर, उपप्रधान बलराम पुरी, पार्षद सपना कटोच, कांता देवी, मधु शर्मा, विनेश बस्सी, रानू राम, आशा वालिया व राजीव गुप्ता आदि भी उपस्थित रहे।

You might also like