तंबाकू के खात्मे का लिया संकल्प

नेरवा—राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल भराणू में विश्व नशा निषेध दिवस के अवसर भाषण प्रतियोगिता, पोस्टर मेकिंग एवं नारा लेखन प्रतियोगिताओं का आयोजन  किया गया। इस दौरान तंबाकू से होने वाले नुकसान के बारे में अवगत करवाया गया।  प्रतियोगिता में शिवालिक सदन, नीलगिरि सदन, धौलाधार सदन एवं अरावली सदन के छात्र छात्राओं ने भाग लिया।  भाषण प्रतियोगिता में शिवालिक सदन की ईशु शर्मा प्रथम व नीलगिरि सदन की इशिका सिसोदिया द्वितीय रही। इसी प्रकार नीलगिरि सदन ने बाजी मारी।  कार्यक्रम में आयुर्वेदाचार्य धर्मेंद्र सिसोदिया मुख्यातिथि के रूप में उपस्थित रहे।  उन्हों ने छात्रों को तंबाकू से होने वाली हानियों पर विस्तृत प्रकाश डाला।  वहीं राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल केदी में भी स्कूल के प्रधानाचार्य लोकेश नेगी की अध्यक्षता में विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किए गए।  छात्रों द्वारा भाषण, निबंध, नारा लेखन एवं एकल नाटक के माध्यम से नशामुक्ति का संदेश दिया गया। स्कूल के प्रधानाचार्य लोकेश नेगी ने तंबाकू से होने वाले नुकसान पर जानकारी दी। उन्होंने छात्रों से तंबाकू ही नहीं हर प्रकार के नशे से दूर रहने का आह्वान किया। इस अवसर पर छात्रों और अध्यापकों ने नशामुक्ति की शपथ भी ली।  उधर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बिजमल में भी विश्व तंबाकू निषेध दिवस की खूब धूम रही।  इस अवसर पर स्कूल प्रिंसीपल दिनेश स्टेटा ने छात्रों को नशामुक्ति का संदेश देते हुए कहा कि नशा तंबाकू का हो या कोई और, यह हर तरह से घातक है।  नशा करने वाले व्यक्ति का न केवल विकास रुक जाता है, बल्कि नशाखोर व्यक्ति विवेकहीन भी हो जाता है। इस वजह से समाज में ऐसे व्यक्ति को तिरस्कार भरी नजर से देखा जाता है।  राजकीय हाई स्कूल मशरांह में मुख्याध्यापक जीवन लाल नड्डा व अध्यापक प्रीतम शर्मा ने छात्रों को नशामुक्ति का संदेश दिया व छात्रों ने विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से नशे के दुष्प्रभाव पर प्रकाश डाला। इसी प्रकार थरोच, कुठाड़, ईडा, टिकरी, टेलर, थंगाड, रुस्लाह, पौडि़या, बमटा व शामठा स्कूलों में भी विश्व तंबाकू दिवस के अवसर पर इससे होने वाली हानियों पर प्रकाश डालते हुए नशामुक्ति का सशक्त संदेश दिया गया। 

You might also like