तत्कालीन एमडी सहित चार डीएम जांच के घेरे में

शिमला – एचआरटीसी कंडक्टर भर्ती की लिखित परीक्षा में मेरिट में पास सभी अभ्यर्थियों को इंटरव्यू में फेल कर दिया गया था। इसके विपरीत लिखित परीक्षा में 25 अंकों में से 12 से 13 अंक लेने वाले अभ्यर्थियों का चयन कर लिया गया। इन चहेतों को इंटरव्यू में आंखों में पट्टी बांध कर 20 में से 18 से 19 अंक दिए गए। वर्ष 2003 की बिग फ्रॉड वाली इस कंडक्टर भर्ती में अब तत्कालीन एमडी दिलजीत सिंह डोगरा (रिटायर्ड आईएएस) समेत एचआरटीसी के तत्कालीन चार डीएम जांच के घेरे में हैं। उस दौरान डीएम धर्मशाला एचके गुप्ता अपने डिवीजन में भर्ती प्रक्रिया के चेयरमैन थे। हैरत है कि अकेले धर्मशाला डिवीजन के 147 अभ्यर्थी चयनित हुए थे और इनमें 90 धर्मशाला डिपो के तहत भर्ती हुए थे। तत्कालीन डीएम एसपी चटर्जी हमीरपुर डिवीजन में आयोजित भर्ती के चेयरमैन थे। वहां भी जमकर धांधली हुई थी। इसके अलावा शिमला डिवीजन में आयोजित भर्ती प्रक्रिया में कुछ समय के लिए आरएन नेगी तथा कुछ अरसे के लिए एमडी शर्मा की अध्यक्षता में भर्ती हुई थी। इस डिवीजन में भी अपात्र अभ्यर्थियों को भर्ती करने के आरोप हैं। लिहाजा मामले की जांच कर रही एसआईटी के निशाने पर दिलजीत सिंह डोगरा, एचके गुप्ता, एसपी चटर्जी, आरएन नेगी तथा एमडी शर्मा आ गए हैं। बताते चलें कि मंडी डिवीजन में आयोजित भर्ती के चेयरमैन तत्कालीन डीएम देवी सिंह ठाकुर थे। अब केवल इन अफसरों के हस्ताक्षरों के नमूनों की फोरेंसिक जांच रिपोर्ट का इंतजार है। रिपोर्ट आते ही एसआईटी चार्जशीट तैयार कर कोर्ट में दाखिल करेगी। एसपी शिमला ओमापति जम्वाल ने बताया कि छानबीन के दौरान भर्ती में अनियमितताएं सामने आई हैं। गौर हो कि 24 अक्तूबर, 2003 को निदेशक मंडल की बैठक में कंडक्टरों के 300 पद भरने को मंजूरी दी गई। इनमें सामान्य वर्ग के 166, ओबीसी के 54, एससी के 66 और एसटी के 14 पद भरे जाने थे। इन पदों के लिए 17 हजार 890 आवेदन आए। 20 सितंबर, 2004 को 300 की जगह 365 पद भरे। 12 मई, 2005 को 13 और पद भर दिए गए। इसी बीच, भर्ती विवादों में आ गई। कोर्ट के आदेश पर शिमला पुलिस ने 14 मार्च, 2017 को तत्कालीन एमडी, डीएम समेत पांच लोगों को आरोपी बनाकर सदर थाने में एफआईआर दर्ज की। इसके बाद एसआईटी का गठन हुआ।

गुप्ता की जमानत पर सुनवाई आज

कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में हुई कंडक्टर भर्ती में अनियमितताओं को लेकर एचआरटीसी के सीजीएम एचके गुप्ता की जमानत याचिका पर मंगलवार को सुनवाई टल गई। अब सुनवाई बुधवार को होगी।

You might also like