तीन दिन से स्कूल नहीं पहुंचे बच्चे

बसों को नहीं लग रही ब्रेक; गुस्साए छात्र-छात्राओं ने किया प्रदर्शन

कुल्लू—बसों में बच्चों को न बिठाना उसके भविष्य पर कितना बड़ा प्रभाव डाल रहा होगा, इसकी किसी को चिंता तक नहीं है। जिला कुल्लू के बच्चे पिछले तीन-चार दिनों से स्कूल नहीं, बल्कि बसों की सुविधा मुहैया करवाने के लिए स्कूल वर्दी में बैग लेकर प्रदर्शन करने को मजबूर हो गए हैं। स्कूली बच्चों को बसों में सीटें नहीं मिल रही हैं। ऐसे में बस सीट पूरी तरह से भर जाने पर चालक भी बस स्टाप पर ब्रेक नहीं लगा पा रहे हैं। वहीं, सरकार और प्रशासन बच्चों को सुविधा प्रदान करने में कोई बड़ा कदम नहीं उठा रहे हैं। बता दें कि जिला मुख्यालय कुल्लू के दो स्कूलों में पढ़ने आने वाले बच्चों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, जहां मुख्यालय आने वाले स्कूलों को घर से सड़क तक पहले ही दो से तीन घंटों का पैदल सफर करना पड़ रहा है। वहीं, बस स्टाप पहुंच कर बसों में सीट प्राप्त नहीं हो पा रही है। ऐसे में वे स्कूल नहीं पहुंच रहे हैं। कुल्लू के पाहनाला और ब्यासर क्षेत्र के बच्चे काफी परेशान हो गए हैं।   सैंज, बंजार, आनी, निरमंड, मणिकर्ण, मनाली आदि क्षेत्रों में भी बच्चों को बसें नहीं मिल पा रही हैं। बता दें कि पाहनाला क्षेत्र के करीब 130 बच्चों को पिछले चार दिनों से सरकार की बस सेवा का लाभ नहीं मिल पा रहा है।  पाहनाला लोट, बाखली, छुआरा, डाबरी, कावा, टीनसेरी, पिछली सेरी और रोहलगी के बच्चे राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल छा ढालपुर और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक कन्या स्कूल सुल्तानपुर पढ़ाई करने आते हैं, लेकिन चार दिनों से इन्हें बस सुविधा ही मुहैया नहीं हो पाई है। पहले दिन बच्चों ने कुल्लू बस स्टेंड में बस नहीं मिलने पर प्रदर्शन किया था। वहीं, दूसरे दिन भी समस्या जस की तस रही है। वहीं, बीते मंगलवार को भी बस का कोई समाधान नहीं होने पर छात्र-छात्राओं ने मुख्यालय कुल्लू में प्रदर्शन किया और उपायुक्त से मिलकर बस की मांग की, लेकिन बुधवार को स्थिति फिर नहीं बदली। ऐसे में गुसाए छात्र-छात्रा बसें नहीं मिलने से स्कूल तो नहीं पहुंच पाए, लेकिन उन्होंने मुख्यालय पहुंच कालेज गेट से लेकर ढालपुर होते हुए उपायुक्त कार्यालय तक रोष रैली निकाली। छात्रों की रोष रैली में कुल्लू सदर के विधायक सुंदर सिंह ठाकुर ने भी भाग लिया और उपायुक्त के समक्ष अतिरिक्त बसें चलाने का बीड़ा उठा। वहीं, छात्र-छात्राओं में दीया भारती बाखली, इशिका चंनसारी, खुशी कावा, शिवानी शमशी, संदीप का कहना है कि वह पिछले चार दिनों से बसों को लेकर परेशान हैं। बुधवार को विधायक के साथ उन्होंने उपायुक्त के समक्ष अपनी मांग रखी। वहीं, उपायुक्त ने पाहनाला क्षेत्र के बच्चों को सुबह के समय एक बस चलाने का आश्वासन दिया है। उधर, कुल्लू सदर के विधायक सुंदर सिंह ठाकुर का कहना है  कि जिस तरह से छात्रों को अतिरिक्त बसों का इंतजाम नहीं किया जा रहा है, यह उनके भविष्य के साथ खिलवाड़  है। प्रदेश सरकार और मंत्री को इसका समय रहते हल निकालना चाहिए। 

धीरे-धीरे होगा समस्या का हल

उपायुक्त कुल्लू डा. ऋचा वर्मा ने कहा कि छात्रों का एक प्रतिनिधिमंडल उनसे मिला है। उनकी समस्या का समाधान करने का प्रयास किया जा रहा ह। आठ अतिरिक्त बसें शुरू कर दी गई हैं। वहीं पाहनाला के लिए एक अतिरिक्त बस चलाई जाएगी, जिससे बच्चे आसानी से सफर कर स्कूल और घर पहुंच सकते हैं।

You might also like