तीर्थन घाटी सैलानियों से गुलजार

कुल्लू—शिमला ,मनाली जैसे भीड़-भाड़ वाले स्थलों के बजाय सैलानी तीर्थन घाटी की शांत, सुरम्य एवं शीतल वादियों की ओर आकर्षित हो रहे हैं। बंजार उपमंडल की तीर्थन घाटी का फिशिंग स्पाट जाबल बाहरी राज्यों के पर्यटकों के लिए पसंद आया है। इस स्पाट पर जहां पर्यटक मछलियां देखकर गदगद हो रहे हैं। वहीं, रोप-वे नूमा झूला पुल आरपार करना भी इनको खूब भा रहा है। इसके अलावा घाटी के पर्यटन की दृष्टि से अनछुए व शीतल पर्यटन स्थल के लिए भी इस बार पर्यटक पहुंच रहे हैं।  बठाहड़ के पास प्राकृतिक झरना भी पर्यटकों को पसंद आ रहा है। पर्यटन व्यवसायी परस राम भारती का कहना है कि पर्यटन से जुडे़ लोग यहां के पर्यटन स्थलों की कोने-कोने में जाकर खूब चर्चा हो, ऐसे में  तीर्थन घाटी के एक अनछुए, अनजाने व शीतल पर्यटन स्थल की सैर करवा रहे हैं। जहां पर आज तक शायद ही सैलानियों के कदम पड़े हो। फिशिंग स्पाट जाबल में भी काफी संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं। यह स्थल है चलैडू प्राकृतिक झरना है, जो तीर्थन घाटी के केंद्र बिंदु गुशैनी से मात्र दस किलोमीटर की दूरी पर बठाहड़ नामक स्थान पर स्थित है।  तीर्थन घाटी भी आजकल सैलानियों से गुलजार हो रही है, जिससे पर्यटन व्यवसाय में भी बढ़ोतरी हो रही है।

You might also like