तीसा में गरजी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता

पीएफ, पेंशन, गे्रच्युटी, चिकित्सा भत्ता देने की उठाई आवाज,  एसडीएम आफिस तक रैली

तीसा—हिमाचल प्रदेश आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ संबंधित भामंस की तीसा इकाई ने मंगलवार को मुख्यालय में मांगों के समर्थन में रैली निकालकर जोरदार हल्ला बोला। मेन बाजार से आरंभ हुई रैली विभिन्न हिस्सों से गुजरती हुई एसडीएम कार्यालय के बाहर जाकर समाप्त हुई। तदोपरांत संघ के पदाधिकारियों ने एसडीएम चुराह हेम चंद वर्मा के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को ज्ञापन भी प्रेषित किया। इस प्रदर्शन की अगवाई हिमाचल प्रदेश आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की प्रदेश महामंत्री जंयती दुग्गल ने की। इस दौरान भामस के जिला मंत्री सरवन कुमार, वरिष्ठ उपाध्यक्ष खैंखो राम और परिवहन मजदूर संघ चंबा के प्रधान मंजीत सिंह भी मौजूद रहे। संघ ने प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को भेजे ज्ञापन में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकारी कर्मचारी घोषित करने की मांग उठाई है। संघ ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को अठारह हजार और सहायिका को नौ हजार मासिक न्यूनतम वेतन की अदायगी भी सुनिश्चित बनाने को कहा है। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं सामाजिक सुरक्षा के तहत पीएफ, पेंशन, ग्रेच्युटी और चिकित्सा भत्ता देने का उल्लेख भी ज्ञापन में किया है। संघ ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका के उम्र की बाधा हटाते हुए वरिष्ठता के आधार पर शत-प्रतिशत पदोन्नित दी जाए। और वरिष्ठ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और वरिष्ठ आंगनबाड़ी सहायिका का पदनाम दिया जाए। दुर्गम क्षेत्रों में कार्यकर्ता आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं को विशेष भत्ता प्रदान किया जाए। इस मौके पर संघ की तीसा इकाई की प्रधान किशना देवी, सचिव सावित्री, अमीना भटट, कलीमा बेगम, कुमारी बंसती, प्रेमलता, रीता देवी, गीता ठाकुर, ज्योति, उषा, जोगिंद्रा व कुसमो देवी समेत सैकड़ों कार्यकताओं ने बढ़-चढ़कर उपस्थिति दर्ज करवाई।

You might also like