दिल्ली-लेह रूट पर आज से दौड़ेगी बस

1072 किलोमीटर  36 घंटों में तय करेगी निगम की बस, रोमांचक सफर के लिए सैलानी बेताब

केलांग – देश के सबसे लंबे बस रूट पर गुरुवार को एचआरटीसी की बस शुरू हो जाएगी। करीब आठ माह बाद दिल्ली-केलांग-लेह रूट पर निगम अपनी बस दौड़ाएगा। एसडीएम केलांग अमर नेगी बस को हरी झंडी दिखा लेह के लिए रवाना करेंगे। एचआरटीसी की यह बस लेह से दिल्ली तक का 1072 किलोमीटर का सफर 36 घंटे में तय करेगी, वहीं इस दौरान यात्रियों का रात्रि ठहराव केलांग में होगा। देश के सबसे ऊंचे दर्रों से हो कर गुजरने वाली मनाली-लेह सड़क पर सफर करने के लिए जहां देश-विदेश के सैलानी खासे उत्साहित रहते हैं, वहीं एचआरटीसी प्रबंधन भी यात्रियों को बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए प्रयासरत रहता है। एचआरटीसी के केलांग डिपो के आरएम मंगलचंद मनेपा का कहना है कि गुरुवार को दिल्ली-केलांग-लेह रूट पर निगम अपनी बस सेवा शुरू करने  जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस बार मनाली-लेह मार्ग जहां देरी से बहाल हुआ है, वहीं बस सेवा भी गत वर्ष की तुलना में देरी से शुरू हो पाई है। उन्होंने बताया कि करीब आठ माह बाद देश के सबसे लंबे दिल्ली-केलांग-लेह रूट पर हिमाचल पथ परिवहन निगम की बस दौड़ेगी। एचआरटीसी की बस चार बर्फीले दर्रे पार कर 1072 किलोमीटर लंबा सफर 36 घंटों में तय करेगी। दिल्ली से निकली यह बस दूसरे दिन लेह पहुंचेगी। उन्होंने बताया कि साढ़े 17 हजार फुट की ऊंचाई वाले दर्रे वाले इस दुर्गम और लंबे रूट पर रोमांचक और सुरक्षित सेवा देने के लिए निगम लिम्का बुक ऑफ  रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा चुका है। उल्लेखनीय है कि  सर्दियों में जहां इस बार लाहुल-स्पीति में बर्फबारी ने गत दो दशक के रिकार्ड तोड़ डाले थे, वहीं उक्त सड़क को बहाल करने के लिए बीआरओ को भी खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। बीआरओ के जवानों ने माइन्स डिग्री तापमान में दिनरात काम कर मनाली-लेह मार्ग को बहाल किया है। यहां बता दें कि रोहतांग समेत लाहुल और जम्मू-कश्मीर की ऊंची चोटियों पर भारी बर्फबारी के चलते गत वर्ष 15 अक्तूबर से यह बस सेवा बंद थी। पर्यटक और आम लोग अपेक्षाकृत सस्ती बस सुविधा का लंबे समय से इंतजार कर रहे थे।

चार दर्रों से होकर गुजरती है बस

परिहवन निगम की यह बस कई ऐसे दर्रों से गुजरती है, जहां का तापमान शून्य से कई डिग्री नीचे रहता है। पहला दर्रा रोहतांग पड़ता है, जो 13050 फुट की ऊंचाई पर है। बारालाचा दर्रा 16020, लाचुंग दर्रा 16620 और तंगलंग दर्रा 17480 फुट की ऊंचाई पर है, जहां से बस गुजरकर लेह पहुंचती है।  

दिल्ली से 1500 में पहुंचेगे लेह

एचआरटीसी प्रबंधन ने दिल्ली से लेह का किराया एक तरफ का 1500 रुपए रखा है। दिल्ली से लेह जाने वाले यात्रियों को 1500 रुपए किराया अदा करना होगा। इसके अलावा निगम की यह बस दिल्ली से दोपहर 2ः30 मिनट पर चलेगी और करीब 36 घंटों बाद लेह पहुंचेगी। लेह से यह बस सुबह पांच बजे दिल्ली के लिए रवाना होगी। 

 

You might also like