दिल्ली सरकार की स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत से दस गुणा बड़ी और व्यापक : केजरीवाल

नई दिल्ली –  राजधानी में केंद्र संचालित स्वास्थ्य योजना को लागू किए जाने के मसले पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली की सरकार की स्वास्थ्य योजना को आयुष्मान भारत योजना से 10 गुना बड़ी और व्यापक बताते हुए केन्द्रीय योजना को अमल में लाने से इन्कार कर दिया है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन के दिल्ली में आयुष्मान भारत योजना लागू करने के संबंध में तीन जून को लिखे पत्र का शुक्रवार को जबाव देते हुए श्री केजरीवाल ने कहा, “ मुझे आपको ये बताते हुए अति हर्ष हो रहा है कि दिल्ली में तो आयुष्मान भारत योजना काफी पहले से ही लागू हो चुकी है। दिल्ली सरकार की स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत योजना से 10 गुना बड़ी और व्यापक है। दिल्ली सरकार की योजना में वे सारी बातें तो हैं ही जो आयुष्मान भारत योजना में हैं बल्कि दिल्लीवािसयों के लिए और भी ढेर सारी सुविधायें हैं।” उन्होंने लिखा कि केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना में दिल्ली की मात्र 10 प्रतिशत से भी कम आबादी लाभार्थी है जबकि दिल्ली सरकार की स्वास्थ्य योजना में राजधानी का हर व्यक्ति लाभार्थी है अर्थात दिल्ली की पूरी की पूरी दो करोड़ जनसंख्या इस योजना के दायरे में आती है।  केंद्र सरकार की योजना में लाभार्थियों को केवल पांच लाख रुपए तक का इलाज होगा। दिल्ली सरकार इलाज का पूरा खर्च वहन करेगी, चाहे वह 30 लाख रुपए ही क्यों न हो। दिल्ली सरकार की योजना में इलाज के खर्च की कोई सीमा नहीं है। आयुष्मान योजना में लाभार्थी को पांच लाख रुपए तक का लाभ तब मिलेगा जब वह किसी बीमारी की वजह से अस्पताल में भर्ती होगा जबकि दिल्ली में हर नागरिक का इलाज मुफ्त है। इसमें बाह्य रोगी विभाग में आने वाले मरीजों की दवाइयों और जांच का खर्च भी शामिल है।  उन्होंने कहा दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश और हरियाणा में आयुष्मान भारत योजना लागू है। इसके बावजूद इन दोनों राज्यों से लाखों की संख्या में मरीज दिल्ली सरकार के अस्पतालों में इलाज करवाने आते हैं जबकि दिल्ली का शायद ही कोई नागरिक इन राज्यों में उपचार करवाने जाता होगा। इससे स्पष्ट होता है कि दिल्ली की स्वास्थ्य योजना अच्छी चल रही है।  श्री केजरीवाल ने पत्र में लिखा कि दोनों सरकारों का एक ही मकसद है कि लोगों को अच्छा और सस्ता इलाज मिले ऐसे में दिल्ली मे एक अच्छी स्वास्थ्य योजना को बंद करके दूसरी योजना लागू करने से किसी को फायदा नहीं होगा। डॉ हर्षवर्धन को एक अच्छा और अनुभवी डाक्टर बताते हुए श्री केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली सरकार की योजना को सुधारने के लिए व्यक्तिगत रूप से वह कोई सुझाव देना चाहें तो स्वागत है।

You might also like