दूध से आमलेट की बात ‘जुमला’

शिमला —दूध से आमलेट बनने का सैंपल पास हो गया है। हैल्थ सेफ्टी एंड रेगुलेशन डिपार्टमेंट द्वारा कंडाघाट लैब सौंपे गए सैंपल की रिपोर्ट आ गई है, जिसमंे दूध से आमलेट बनने की शिकायत को लैब ने खारिज किया गया है। जिसमंे कहा गया है कि दूध को काढ़ने के बाद जो तत्व प्राप्त होते हैं, वही तत्व सैंपल रिपोर्ट मंे मिले हैं। रिपोर्ट मंे कहा गया है कि आमलेट का कोई भी तत्व सैंपल रिपोर्ट मंे नहीं मिला है। गौर हो कि शिमला मंे एक उपभोक्ता ने दूध को उबालने के दौरान आमलेट बनने की शिकायत की थी। इस केस को लेकर हैल्थ सेफ्टी एंड रेगुलेशन डिपार्टमंेट भी हैरान हो गया था कि आखिर ऐसे कैसे हो सकता है? फिलहाल न्यू शिमला से आई इस शिकायत की राजधानी मंे खूब चर्चा थी। शिकायत यह की गई थी कि जब पैकेट वाले दूध को उबाला गया तो उससे आमलेट बन गया। हालांकि इस शिकायत मंे मामले की गंभीरता को देखते हुए उक्त सैंपल को लैब भेज दिया गया था। अब इसकी रिपोर्ट मंे ही अब यह सच सामने आ गया कि दूध से कोई आमलेट नहीं बना है। सूचना है कि स्वास्थ्य महकमे के एक आलाअफसर को सीधे ही उपभोक्ता द्वारा यह शिकायत दर्ज की गई थी, जिसके बाद शिकायत पर कार्रवाई करते हुए दूध को जांचा जा रहा है। फिलहाल अब तंबाकू पर भी लैब की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। शिमला बस अड्डे मंे हैल्थ सेफ्टी एंड रेगुलेशन डिपार्टमंेट के तहत की गई छापेमारी मंे जो तंबाकू का सामान पकड़ा गया था उसे चैकिंग के लिए कंडाघाट लैब भेजा गया है, जिसकी रिपोर्ट अगले सप्ताह तक आने के बारे मंंे कहा गया है। तंबाकू के मामले मंंे यह चैक किया जाना है कि जो माल पकड़ा गया था वह तंबाकू था या कुछ और पैकेट मंे था। फिलहाल इस मामले मंे हैल्थ सेफ्टी एंड रेगुलेशन डिपार्टमंेट द्वारा की गई छापेमारी मंे तंबाकू उत्पाद बिक्री को लेकर 12 दुकानांे को नोटिस जारी किया गया है। जानकारी के मुताबिक शिकायत पर की गई कार्रवाई मंे दरअसल फू ड सेफ्टी आफिसर को शिकायतें मिली थीं कि शिमला में कुछ दुकानदार अवैध रूप से तंबाकू व अन्य नशीले पदार्थों को बेच रहे हैं।

You might also like