दूसरे के उत्पादों के लिए खोलें बाजार

नई दिल्ली -केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने विभिन्न देशों से भारतीय उत्पादों के लिए परस्पर सहमति के आधार पर बाजार खोलने का आह्वान करते हुए अंतरराष्ट्रीय कारोबार में सरंक्षणवादी उपायों से बचने तथा मुक्त व्यापार प्रणाली वकालत की है। श्री गोयल ने जापान में पिछले सप्ताहांत में आयोजित ‘व्यापार एवं निवेश और डिजीटल अर्थव्यवस्था’ पर जी-20 देशों के व्यापार मंत्रियों की बैठक से इतर कई देशों के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रियों के साथ अलग अलग मुलाकात की। इन देशों में जापान के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन, चीन, फ्रांस, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, स्पेन, यूरोपीय संघ, मेक्सिको, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, चिली और आस्ट्रेलिया के व्यापार मंत्री शामिल थे। मुलाकात के दौरान केंद्रीय मंत्री ने भारतीय उत्पादों के लिए संबंधित देश के बाजार को खोलने का आह्वान करते हुए कहा कि भारत में जवाब में उनके उत्पादों के लिए ऐसे ही कदम उठाएगा। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ रहे व्यापारिक तनाव को कम करने पर बल देते हुए कहा कि यह सभी देशों के लिए चिंता का विषय है और इसका असर आर्थिक वृद्धि, विकास एवं रोजगार के अवसरों पर पड़ रहा है। श्री गोयल ने कहा कि विकासशील देशों की अर्थव्यवस्थाओं में छोटे उद्योगों को व्यापक भागीदारी देने से  घरेलू कारोबार के अलावा अंतरराष्ट्रीय व्यापार में भी इजाफा होगा और रोजगार के ज्यादा अवसर सृजित होंगे। विकासशील देशों में रोजगार के अवसर सृजित करने तथा आय बढ़ाने में छोटे उद्योगों की महत्त्वपूर्ण भूमिका है। इन उद्योगों पर करोड़ों लोगों की  आजीविका निर्भर करती है। उन्होंने कहा कि भारत सतत् एवं समग्र रूप से निवेश और व्यापार को प्रोत्साहन दे रहा है। इसके लिए वित्तीय संसाधन एवं मानव संसाधन के बीच संबंधों को समझने की जरुरत है।

You might also like