देवदार की टहनी गिरने से जला बिजली का पोल

नेरवा—शुक्रवार सुबह नेरवा और देइया के बीच कटांह में बिजली बोर्ड की कुपवी-देइया एचटी लाइन के एक खंबे में अचानक आग की लपटें निकलनी शुरू हो गई। हालांकि जहां यह आग लगी वहां से बस्ती दूर थी परंतु नजदीकी गांव के लोग मारे दहशत के घरों के बाहर निकल पड़े। ! लोगों ने आग लगने की सूचना विद्युत कर्मी को दी। आग लगने की यह घटना लाइन के खंभे पर देवदार के पेड़ की एक हरी टहनी गिरने की वजह से पेश आई। खंभे पर हरी टहनी गिरने से इसका इंसुलेटर ब्लास्ट हो गया व इंसुलेटर और तारों ने आग पकड़ ली। करीब पौने मिनट तक जलने के बाद तारें जमीन पर आ गिरी व पूरे क्षेत्र की बत्ती गुल हो गई। बता दें कि उपमंडल चौपाल में बिजली की अधिकांश लाइनें घने जंगलों से हो कर गुजर रही हैं व इस तरह की घटनाएं पेश आना आम बात हो गई है। कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के बीच फील्ड स्टाफ  की कमी के चलते आए दिन आम लोगों के साथ साथ बोर्ड कर्मियों के लिए भी मुश्किल खड़ी हो रही है। बोर्ड में कर्मचारियों की कमी यहां पर भी बिजली बहाल करने में सामने आई व जो लाइन डेढ़-दो घंटे में ठीक हो सकती थी उसे ठीक करने में करीब सात घंटे का समय लग गया। लाइन पर मौजूद एक मात्र ओउटसोर्स कर्मचारी को बिजली बहाल करने के लिए पहले स्थानीय लोगों को इकठ्ठा करना पड़ा उसके बाद करीब तीन घंटे की लगातार कड़ी मशक्कत के बाद इस कर्मचारी और स्थानीय लोगों ने तीन बजे के बाद बिजली बहाल कर दी।

You might also like