दो अध्यक्ष बनाने की तैयारी में कांग्रेस

राहुल गांधी के इस्तीफे पर अड़े रहने के चलते पार्टी ले सकती है बड़ा फैसला

नई दिल्ली -लोकसभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद कई राज्य ईकाइयों में उभरे मतभेद और पलायन की आशंका के बीच कांग्रेस पार्टी में बड़े पैमाने पर उथल-पुथल देखने को मिल रही है। राहुल गांधी के वायनाड दौरे के बीच खबर है कि उनके कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा वापस न लेने पर अड़े रहने की स्थिति में पार्टी के सदस्य एक से ज्यादा कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने के मॉडल को अंतिम रूप दे रहे हैं। नए उत्तराधिकारी के बारे में काफी मंथन के बाद पार्टी के सदस्यों के बीच इस बात पर सहमति बनी है कि कांग्रेस के दो कार्यकारी अध्यक्ष होने चाहिए, उनमें से एक अगर दक्षिण भारत से हो तो पार्टी के लिए अच्छा होगा। वहीं, एक प्रस्ताव यह भी है कि कार्यकारी अध्यक्ष अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों में से होने चाहिए। पार्टी सूत्रों के अनुसार, इस संबंध में कुछ नाम प्रस्तावित भी किए गए हैं। इनमें अनुसूचित जाति के दो नेता सुशील कुमार शिंदे और मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल हैं।

You might also like