दो लाख की नशीली दवाएं जब्त

जालंधर के दवा नियंत्रक अधिकारियों ने की छापामारी, तीन मेडिकल स्टोर से बरामद किया सामान

चंडीगढ़ – जालंधर के ड्रग कंट्रोल अधिकारियों द्वारा मंगलवार देर शाम को की गई छापामारी के दौरान जिले के तीन विभिन्न मेडिकल स्टोरों में से दो लाख रुपए की नशीली दवाएं जब्त की गई। इस संबंधी जानकारी देते हुए खाद्य और ड्रग प्रबंधक डायरेक्टोरेट, पंजाब के कमिश्नर केएस पन्नू ने बताया कि नशीली दवाओं की बिक्री पर रोक लगाने के लिए नियमित जांच का आदेश दिया गया है। इस तर्ज पर कमल कंबोज, अनुपमा कालिया और अमरजीत सिंह समेत ड्रग कंट्रोल अधिकारियों की टीम ने जिला पुलिस की सहायता से जालंधर जिले के विभिन्न हिस्सों में छापेमारी की। एडीसीपी  सुदारविजही और डीसीपी गुरमीत सिंह स्वयं पुलिस पार्टी के साथ गए। उन्होंने छापेमारी करके जमुना मेडिकल हॉल, मकसूदां से 90,492 रुपए की नशीली दवाएं जब्त की। एक और फर्म मैसर्ज जिंदल मेडिसनज प्राइवेट लिमिटेड, दिलकुशा मार्केट से रिकॉर्ड रहित 98,579 रुपए की नशीली दवाएं जब्त की गई। इसके बाद एसएस मेडिकोस एंड कॉस्मेटिक स्टोर, नकोदर से 51,639 रुपए के ड्रग जब्त किए गए। इसी तरह मकसूदां के गौरव मेडीकल स्टोर से 7680 रुपए की नशीली दवाएं जब्त की गई। शुरुआती रिपोर्टों के अनुसार दवाओं की दुकानों के मालिकों को गिरफ्तार कर लिया गया और मेडिकल स्टोरों के लाइसेंस रद्द करने की प्रक्रिया शुरू की गई। ऐसा काला व्यापार करने वालों को चेतावनी देते हुए कमिश्नर ने कहा कि मुख्यमंत्री अमरेंदर सिंह इस मुद्दे संबंधी बहुत गंभीर हैं और इस बुराई को खत्म करने के लिए डायरैक्टोरेट द्वारा जल्द ही एक मुहिम शुरू की जाएगी।

You might also like