धर्मशाला में सुरीले तरानों की बरसात

‘हिमाचल की आवाज-2019’ ग्रैंड फिनाले में धमाल, 27 प्रतिभागियों ने दमदार प्रस्तुतियों से बटोरीं तालियां

धर्मशाला  – धौलाधार के आंचल में बसे धर्मशाला कालेज के ऑडिटोरियम में ‘हिमाचल की आवाज-2019’ ग्रैंड फिनाले में जूनियर और सीनियर कैटेगरी में उभरते गायकों ने अपनी आवाज का खूब जादू बिखेरा। ग्रैंड फिनाले में जूनियर और सीनियर कैटेगरी में 27 प्रतिभागियों में ‘हिमाचल की आवाज’ का खिताब पाने के लिए खूब घमासान मचाया। ग्रैंड फिनाले में सीनियर कैटेगरी में 16 और जूनियर कैटेगरी में 11 प्रतिभागियों ने दमदार प्रस्तुतियों से निर्णायक मंडल का दिल जीतने के लिए खूब जोरआजमाइश की। सभी प्रतिभागियों ने एक से बढ़कर एक धमाकेदार तरानों से वाहवाही लूटी। मंडी जिला से दिव्यांश शर्मा ने ‘तेरे बिन नहीं जीणा मर जाणा ढोलना’ से ऑडिटोरियम में बैठे लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। सोलन जिला के राहुल ने ‘ये सिला मिला है मुझे तेरी दोस्ती के पीछे’ पर धमाकेदार प्रस्तुति दी। शिमला से विदुषी ने ‘जरा सी आहट होती है तो दिल सोचता है कहीं यह वो तो नहीं’ पर प्रस्तुति देकर सबका दिल जीत लिया। सोलन जिला के कार्तिक ने ‘याद न जाए दिल से पिया की’, कांगड़ा के अभिमन्यु ने ‘जाने वाले जरा मुड़ के देखो मुझे’, मंडी के अजय शर्मा ने ‘आपकी नजरों ने समझा’, हमीरपुर की शैलजा कमलजीत ने ‘आज फिर जीने की तमन्ना है’ पर प्रस्तुति देकर ऑडिटोरियम में बैठे हर शख्स को झूमने पर मजबूर कर दिया। वहीं बिलासपुर जिला की शालू धीमान ने ‘सांवरिया हो सावन आया घर न जाइओ’, कांगड़ा जिला से नेहा कुमारी ने ‘अखियों के जारोखों से मैंने देखा जो’, मंडी से उर्मिला सोनी ने ‘हमसे रोशन हैं चांद और तारे आओ हजुर तुमकों तारों में ले चलूं’ आदि तरानों से सबको झूमने पर मजबूर कर दिया। ‘हिमाचल की आवाज’ कार्यक्रम में सोलन से प्रियंका की ‘कूक-कूक बोले कोयलिया’,  ऊना से भानू कौशल ‘सावन बीता जाए’ पर खूब तालियां बटोरीं। इसके अलावा शिमला से आंचल ने ‘चिठी न कोई संदेश’, सोलन से रितिका ‘दिल में तुझे बैठा के पूजा करूंगी तेरी’, ऊना से साहिल ने ‘सावन बीता जाए’, बिलासपुर से सौरभ ‘दूर रहकर न करो बात करीब आ जाओ’ आदि पर प्रस्तुतियां देकर सबका मन मोह लिया।

धर्मशाला : ‘दिव्य हिमाचल मीडिया ग्रुप’ के लोकप्रिय इवेंट ‘हिमाचल की आवाज-2019’ ग्रैंड फिनाले के दौरान सम्मानित गणमान्य सामूहिक चित्र में

            सभी फोटो : विनोद कुमार

रास्ता बनकर मुकाम तक पहुंचा रहा ‘दिव्य हिमाचल’

धर्मशाला  – ‘ऐसा कोई रास्ता नहीं, जिसकी मंजिल न हो, ऐसी कोई मेहनत नहीं, जिसका कोई फल न हो’। ये शब्द ‘दिव्य हिमाचल’ के लोकप्रिय इवेंट ‘हिमाचल की आवाज-2019’ ग्रैंड फिनाले के दौरान मीडिया गु्रप के प्रधान संपादक अनिल सोनी ने कहे। उन्होंने कहा कि ‘दिव्य हिमाचल’ मंजिल नहीं है, लेकिन एक रास्ता जरूर है, जो पिछले 22 साल से प्रदेश की प्रतिभावान प्रतिभाओं को मंजिल तक पहुंचाने का काम कर रहा है। मीडिया गु्रप हिमाचली प्रतिभाओं का रास्ता बनकर उन्हें मंजिल तक पहुंचा रहा है। उन्होंने कहा कि हम हिमाचली प्रतिभाओं के लिए रास्ता बनाते हैं और उन्हें मंजिल पर पहुंचा कर नायक बनाते हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल में अगर पहली हिमाचली पहाड़ी कव्वाली सामने आई है, तो वो डा. मदन झाल्टा की देन है। प्रो. परमहंस अहूजा जानी-मानी हस्ती हैं। आज हम उभरते स्टार नितिन को देखते हैं, जो बच्चों को ट्रेंनिग दे रहा है, देश-विदेश में प्रदेश का नाम चमका रहा है, तो वह इन्हीं के हाथों से मझा हुआ हिमाचल का बुलंद सितारा है। नितिन भी इसी तरह के मंच से निकलकर इस मुकाम तक पहुंचा है। उन्होंने सेलेब्रिटी जज हंसराज की भी तारीफ की। उन्होंने कहा कि 22 साल पहले जब ‘दिव्य हिमाचल’ अखबार शुरू किया गया तो सीएमडी भानू धमीजा का हमें पहला व आखिरी निर्देश यह था कि हम इस प्रदेश की सेवा करने आए हैं। आज आप सभी के प्यार व आशीर्वाद से हम ये सब कर पाएं हैं। उन्होंने कहा कि जब मीडिया ग्रुप का लोकप्रिय इवेंट ‘मिस्टर हिमाचल’ शुरू किया, तो प्रदेश में पहले ही साल 150 के करीब फिटनेस सेंटर खुल गए। ‘मिस हिमाचल’ के शुरू होते ही प्रदेश में कई फैशन डिजाइनिंग संस्थान खुल गए। अब संगीत व डांस अकादमियां भी खुल गई हैं। हम फुटबाल प्रतियोगिता भी करवाते हैं, तो बहुत से फुटबाल क्लब भी प्रदेश में खुल गए हैं। इसी के साथ ही डिजिटल के जमाने में हम प्रदेश को बुलिटन देते हैं, उसमें हम रोजाना हिमाचली तड़का के जरिए प्रदेश के एक कलाकार के गीत को जनता तक पहुंचाते हैं। अब मीडिया गु्रप किसानों के लिए ‘अपनी माटी’ लेकर आएं हैं, जो किसानों की मौजूदा स्थिति से सरकार को रू-ब-रू करवा रहा है।

युवा पीढ़ी की पहली पसंद पुराने गाने

फिनाले में प्रतिभागियों की दमदार प्रस्तुतियां देख निर्णायक हैरान

धर्मशाला – ‘दिव्य हिमाचल मीडिया ग्रुप’ के लोकप्रिय इवेंट ‘हिमाचल की आवाज-2019’ के लिए प्रदेश भर से धर्मशाला पहुंचे प्रतिभागियों ने पुराने गानों में अपने सुरों का जादू बिखेर सबको हैरान कर दिया। ये शब्द संगीत विशेषज्ञों प्रो. परमहंस अहूजा, डा. मदन झालटा और सेलेब्रिटी जज हंसराज रघुवंशी ने ग्रैंड फिनाले में पहुंचे प्रतिभागियों की प्रतिभा परखने के दौरान कहे। निर्णायक मंडल उभरते कलाकारों में कमाल की प्रतिभा देख हैरान था। उन्होंने कहा कि छोटे से पहाड़ी प्रदेश का हुनर मुंबई के कलाकारों को टक्कर देने को तैयार है। प्रतिभागियों की पुराने गानों पर बेहतरीन प्रस्तुतियां देख जजेज भी हैरान थे। इसी के साथ निर्णायकों ने प्रतिभागियों को कमियां सुधार आगे बढ़ने की सलाह भी दी। ‘हिमाचल की आवाज-2019’ में जिला एवं सत्र न्यायाधीश कांगड़ा जेके शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इसी के साथ उपायुक्त कांगड़ा राकेश कुमार प्रजापति विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। योगेश जसवाल जज लेबर कोर्ट, अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश पारस डोगर, अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कृष्ण कुमार, अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश रंजीत सिंह ठाकुर, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी यजुविंद्र सिंह, सचिव डीएलएस, कम अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी अमित मंडियाल, अतिरिक्त उपायुक्त राघव शर्मा, एडीएम मस्तराम भारद्वाज, डीआरडीए के जिला परियोजना अधिकारी मुनीष शर्मा, होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष अश्विनी वांवा विशेष रूप से कार्यक्रम में उपस्थित रहे। इसके अलावा जिला कांगड़ा बार एसोसिएशन धर्मशाला के भी दर्जनों अधिवक्ताओं ने कार्यक्रम में उपस्थिति दर्ज करवाई। इसके अलावा ‘मिस हिमाचल’ व ‘मिस्टर हिमाचल’ फाइनलिस्ट पलक शर्मा, पंकज कुमार और पंकज ठाकुर भी उपस्थित रहे। 

स्पांसर्ज को सम्मान

‘हिमाचल की आवाज-2019’ के ग्रैंड फिनाले में ब्रिटिश एयरहोस्टेस अकादमी पालमपुर के सुशील अवस्थी व अनुजा, ई-विंग अकादमी के गुलशन वर्मा, जेडी ग्रुप ऑफ कंपनी मोहाली के एमडी हरजोत सिंह ढिल्लों, होटल ट्रांस के एमडी मृदुल शर्मा व विपिन नैहरिया सहित दर्जनों स्पांसर्ज ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। 

सिर्फ मेहनत से मिलती है मंजिल

धर्मशाला – किसी भी क्षेत्र में दिल से की गई मेहनत एक दिन अच्छे दिनों के रूप में आपके आगे आती है। हमें कठिन से कठिन परिस्थितियों में भी हार नहीं माननी चाहिए और अपनी मेहनत को निरंतर रखना चाहिए। यह बात ‘हिमाचल की आवाज-2019’ के सेलेब्रिटी जज हंसराज रघुवंशी ने कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होंने फिनाले में पहुंचे प्रतिभागियों को कहा कि हमें अपने ऊपर विश्वास कर सच्ची लग्न से मेहनत करनी चाहिए। हसंराज ने कार्यक्रम की शुरुआत भोले नाथ की स्तुति से हुई। मेरा भोला है भडारी से गंगा किनारे तक रघुवंशी ने लोगों का खूब मनोरंजन किया। इसके बाद भोले कैलाश में, डमरु वाला, फकीरा, बाबा बदनाम, गंगा किनारे, मेरी जिंदगी सवारी मुझे गले लगाकर आदि से लोगों को मंत्रगुग्ध किया। इस दौरान सेलेब्रिटी जज ने ‘दिव्य हिमाचल मीडिया ग्रुप’ की प्रदेश के युवाओं को घर द्वार पर बेहतरीन मंच देने के लिए तारीफ की। 

समारोह की शोभा रहे गणमान्यों  को सम्मान

मौजां ही मौजां…

You might also like