नशे के कारोबार पर नकेल कसे पुलिस

 कुल्लू—हिमाचल में बढ़ रहे नशे को लेकर उच्च न्यायालय भी चिंतित है। हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश एवं राज्य विधिक सेवाएं प्राधिकरण के अध्यक्ष न्यायमूर्ति धर्मचंद चौधरी ने कुल्लू में नशे के व्यापार को रोकने के लिए पुलिस को ठोस कदम उठाने के  लिए कहा। भौतिकतावाद, नैतिक मूल्यों का पतन, नशाखोरी, बच्चों से जुड़े मुद्दों और पर्यावरण संरक्षण विषय पर आयोजित सेमिनार के दौरान उन्होंने पुलिस को ठोस कदम उठाने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि बच्चों में नशे का चलन बढ़ रहा है। इसलिए नशा तस्करों पर नकेल कसने की सख्त जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस बुराई को रोकने के लिए स्थानीय लोगों और महिलाओं को सहयोग करना चाहिए। इस दौरान  उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल वीरेंद्र सिंह ने नशे के कारणों पर विचार करने की बात कही। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति विवेक सिंह ठाकुर ने कहा कि समाज में कुरीतियों का उद्भव कहां से हुआ, इस पर मनन करना होगा। हम परंपराओं से बंधे हैं और धर्म की आड़ में अनेक बुराइयों को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि रूढि़यों को तोड़ना होगा, जिसके लिए समाज को शिक्षित करने की आवश्यकता है। प्रत्येक व्यक्ति की अपनी विश्वसनीयता होनी चाहिए, यहीं से समाज मजबूत होता है। इसके लिए आवश्यक है कि परंपराओं के साथ नैतिक मूल्यों को बनाए रखा जाए।

You might also like