नाम का जनमंच… छुटभैया नेताओं का डेरा

धर्मशाला—प्रदेश सरकार के जन (जनता) के मंच पर पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की बल्ले-बल्ले देखने को मिली। धर्मशाला के जोरावर सिंह स्टेडियम में आयोजित जनमंच में सरकार द्वारा जारी नोटिफिकेशन की खुद सरकारी प्रतिनिधि  धज्ज्यिां उड़ाते हुए नजर आए। मंच पर मंत्री व सांसद के आसपास काफी संख्या में पार्टी पदाधिकारी  कार्यकर्ता डटे रहे, जबकि अधिकारियों को जुगाड़ बनाकर अन्य जगह ही स्थान बनाना पड़ा। प्रदेश सरकार ने जनता के साथ सीधा संवाद स्थापित करने के लिए जनमंच कार्यक्रम की मुहिम चलाई है। इसके तहत राज्य भर एक दर्जन के करीब जनमंच के आयोजन भी किए जा चुके हैं। कार्यक्रमों में अधिकतर समय पाई जाने वाली समस्याओं को देखते हुए प्रदेश सरकार ने नोटिफिकेशन जारी की थी। जिसमें मुख्य सचिव ने सभी उपायुक्तों को नोटिफिकेशन जारी कर समस्याएं लेकर पहुंचने वाले लोगों के बीच बिचौलियों को खत्म करने की बात कही थी। इतना ही नहीं अधिक संख्या में पहुंच रही पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं पर भी रोक लगाने की बात कही थी। लेकिन लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार आयोजित जनमंच में सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों की पूरी तरह से धज्जियां उड़ती हुई नजर आईं। प्रदेश सरकार ने जनमंच कार्यक्रम के समाप्त होने के बाद प्रेस कान्फ्रंेस का आयोजन करने को भी नोटिफिकेशन जारी की थी। लेकिन धर्मशाला में आयोजित कार्यक्रम में प्रेस कान्फ्रंेस का भी आयोजन नहीं किया गया। जिससे समस्त जानकारी मीडिया द्वारा आम लोगों तक पहुंचाई जा सके। उधर, इस बारे में धर्मशाला में जनमंच कार्यक्रम की अध्यक्षता करने पहुंच परिवहन एवं वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर का कहना है कि इस संबंध में ऐसी नोटिफिकेशन उनके ध्यान में नहीं है। उन्होंने बताया कि जनमंच में कोई भी आम लोग भाग लेने के लिए पहुंच सकता है। कार्यक्रम में मंत्रियों को कुछ लोग भेंटें भी दे रहे थे। जबकि सरकार ने ऐसा करने से मना किया है।

 योल छावनी में समस्याओं को अंबार

जनमंच कार्यक्रम में योल छावनी की समस्या को लेकर भी सवाल उठे। इसमें योल छावनी का स्टेटस पूछा गया, साथ ही विभिन्न समस्याओं जिसमें, कूड़ा-कचरा, स्ट्रीट लाईट, रास्तों की दुर्दशा और न ही मनरेगा कार्य होने की समस्या से अवगत करवाया गया। इसके अलावा छावनी क्षेत्र में कुछेक दूकानदारों द्वारा अवैध कब्जों को लेकर भी परिवहन मंत्री से समस्या उठाई गई।

You might also like