नारकंडा पंचायत समिति की बैठक से नदारद रहे अधिकारी

नारकंडा –पर्यटन नगरी नारकंडा में पंचायत समिति की त्रैमासिक बैठक समिति अध्यक्षा रजनी शर्मा की अध्यक्षता में समिति हाल में आयोजित हुई। बैठक में विभिन विभागों के अधिकारियों के न आने के कारण सदस्यों मे भारी रोष दिखा। सदस्यों का कहना है कि चुनाव आचार संहिता के कारण 6 माह बाद समिति की बैठक का आयोजन हो पाया। इतने समय बाद बैठक हो रही है फिर भी अधिकारी बैठक में उपस्थित नहीं हो रहे हैं जिससे क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यो में रुकावट आ रही है। गौर करे कि बैठक में समिति के 15 में से सात सदस्य भी अनुपस्थित पाये गए। भुट्टी, मलेंड़ी, मंगसु, शिवान व शालोटा पंचायत के प्रधान जोकि समिति के मनोनित सदस्य भी हंै ये भी अनुपस्थित रहे। इसके कारण आगामी 4 जुलाई को  समिति की विशेष बैठक रखी गई है। बीडीसी बड़ागांव अनिल ने प्रश्न उठाया कि पिछले वर्ष मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा करने के बावजूद भी अभी तक बड़ागांव स्कूल का नाम शहीद सतीश कुमार के नाम पर नहीं रखा गया है। मुख्यमंत्री द्वारा स्वयं घोषणा करने के बावजूद इस कार्य में इतना समय क्यों लगाया जा रहा है। बीडीसी जरोल मोहन श्याम ने प्रश्न उठाया कि उठाऊ पेयजल योजना डोडा नाला से शिलाजान जिसका कार्य 4 साल से लटका हुआ है। नवम्बर 18 तक इस योजना को पूरा करने का आश्वासन विभाग ने  पिछली बैठक में दिया था पर अभी तक इसमें मैन लाइन का कार्य प्रारंभ नही हुआ जबकि टैंक 2018 में बनकर तैयार है। बीडीसी सिहल जदून हरी दत्त भरोटा ने प्रश्न रखा की टांगरी नाले से जल खनेर पेयजल योजना की पाइपों में जंग लग चुका है और सरकार से इसके आर्डर दिए है पर विभाग ने इसमें कोई कार्रवाई नहीं की है। इस मौके पर बीडीसी जरोल मोहन श्याम, सिहल हरी दत्त, कुमारसैन बीडीसी सुमना, बनाहरी बीडीसी रीमा, बीडीसी माधवानी प्रेम दासी, बीडीसी मोगड़ा रूपलाल व बीडीसी बड़ागांव अनिल कुमार उपस्थित रहे।

You might also like