नालागढ़ में गर्मी का सितम, पारा 45 पार

नालागढ़—ज्येष्ठ माह में चिलचिलाती धूप व लू के थपेड़ों से लोगों पर गर्मी का थर्ड डिग्री का टॉचर्र जारी है। लोग पंखों, कूलरों, एसी सहित शीतल पेय पदार्थों सहित सभी संसाधनों पर निर्भर होकर रह गए है, लेकिन 45 डिग्री तापमान में हर उपाय विफल नजर आता है। इलेक्ट्रिॉनिक्स उत्पादों की खरीददारी में अच्छी खासी बढ़ोत्तरी हुई है और लोग इस भीष्ण गर्मी से बचने के लिए पंखें, कूलर आदि उपकरण खरीदने को लाचार हो गए है। लगातार चढ़ रहे तापमान के पारे से लोगों की मुश्किलें बढ़ने लगी है। औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन के लोगों को सूर्यदेव के सितम का अभी और सामना करना पड़ेगा। क्योंकि आने वाले दिनों में मौसम के शुष्क और साफ रहने की संभावनाएं है। जानकारी के अनुसार ज्येष्ठ माह का आगाज भीष्ण गर्मी के साथ हुआ है और दिन प्रतिदिन बढ़ रहा तापमान लोगों के जनजीवन को अस्त व्यस्त करने लगा है, वहीं चढ़ते पारे ने लोगों के पसीने छुड़ा दिए है। सोमवार को नालागढ़ क्षेत्र का तापमान 45 डिग्री के पार रहा, जिससे लोग भीष्ण गर्मी में पसीने से तर नजर आए। वैसे तो मई माह के अंतिम दिनों में ही गर्मी ने अपना रंग दिखा दिया है और जून माह के शुरू में ही गर्मी के परवान चढ़ने से क्षेत्र के लोगों की दिक्कतों में और इजाफा होगा। नालागढ़ में सूर्यदेव पूरी तरह से आग बरसा रहे है। लोगों की परेशानियों में इजाफा हो गया है, वहीं दिन में बाजार सुने नजर आने लगे है। दिन के समय तो यह आलम है कि लोग अपने घरों से बाहर निकलने में गुरेज करने लगे है। दोपहर के समय शहर की सड़कों पर सन्नाटा पसर जाता है, गर्मी के तीखे तेवरों से हो रही परेशानी और बढ़ जाती है और लोगों को विभिन्न प्रकार की समस्या से जूझना पड़ जाता है। गर्मी के मौसम से निजात पाने के लिए लोग पंखें, कूलरों, एसी आदि का सहारा तो ले ही रहे है, वहीं शीतल पेय नींबू पानी, गन्ने का रस आदि से गर्मी से निजात पाने में जुटे हुए है।  मौसम के रूख बदलने से लोग अब पंखें, कूलरों व एसी के विकल्प पर निर्भर हो गए है और लोग कूलरों, एसी व पंखों की खरीद करने को विवश हो गए है, जिससे इन उत्पादों की बिक्री में भी इजाफा होने लगा है। नौणी विवि के पर्यावरण विज्ञान विभाग के एचओडी डा.एसके भारद्वाज ने कहा कि आने वाले दो दिनों में मौसम के शुष्क व साफ रहने की संभावनाएं है।

You might also like